Breaking News
Home / इंडिया / उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठकों के दौर दून में जारी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के साथ सभी दिग्गज पहुंचे
उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठकों के दौर दून में जारी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के साथ सभी दिग्गज पहुंचे

उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठकों के दौर दून में जारी प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के साथ सभी दिग्गज पहुंचे

देहरादून
उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी की संगठनात्मक बैठकों के दूसरे दौर में प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह की अध्यक्षता तथा पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष डाॅ0 श्रीमती इन्दिरा हृदयेश एवं पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किषोर उपाध्याय की उपस्थिति में आज प्रदेश कांग्रेस महामंत्रियों की बैठक सम्पन्न हुई।
बैठक मे सर्वप्रथम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने प्रदेशभर के सभी कांग्रेसजनों को धन्यवाद देते हुए वैश्विक महामारी कोरोना की रोकथाम के लिए लगाये गये लाॅक डाउन में कांग्रेसजनों द्वारा जनता के बीच किये गये सराहनीय कार्यों तथा जरूरतमंदों की सहायता के लिए उनका आभार व्यक्त किया।
आज की बैठक में प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने सर्वसम्मति से तीन प्रस्ताव पारित किये जिसमें सर्वप्रथम अन्य राज्यों से वापस आये प्रवासी बेरोजगारों को रोजगार हेतु प्रत्येक नागरिक को 5 लाख की सहायता राषि राज्य सरकार की ओर से दिये जाने की मांग का प्रस्ताव पारित किया गया। महामंत्रियों की बैठक में पारित दूसरे प्रस्ताव में राज्य में व्याप्त बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए तत्काल विभिन्न विभागों में भर्तियां खोल कर बेरोजगार नौजवानों की नियुक्ति प्रारम्भ करने की मांग की गई। कांग्रेस महामंत्रियों की बैठक में पारित एक अन्य प्रस्ताव में पार्टी ने राज्य सरकार से मांग की कि अपने वादे के मुताबिक राज्य के किसानों का ऋण माॅफ करे तथा गन्ना किसानों के पिछले बकाये का तुरन्त भुगतान करे। बैठक का संचालन प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत ने किया।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के चलते लगाये गये लाॅक डाउन के कारण पूरे देश में छोटे-छोटे उद्योग धन्धे, होटल व्यवसाय, पर्यटन व्यवसाय एवं अन्य प्रकार के निजी व्यवसाय पूरी तरह बन्द हो गये हैं। उत्तराखण्ड राज्य से रोजगार की तलाष में बडी संख्या में पलायन कर चुके नौजवान जो इन उद्योगों में रोजगार में थे, कोरोना महामारी के चलते इन व्यवसायों के लगभग बन्द होने के कारण बेरोजगार होकर अपने घरों को लौट चुके हैं।
उन्होंने कहा कि अलग राज्य का बेरोजगार नौजवान इस बात से आशान्वित था कि उन्होंने राज्य में भारतीय जनता पार्टी की प्रचण्ड बहुमत वाली सरकार बनाई है तो यह सरकार उनके बेरोजगारी के मुद्दे का हल निकाल कर यहां के नौजवानों को रोजगार मुहैया कराकर पलायन को रोकने में भी सफल साबित होगी। लेकिन आज साढे तीन वर्श बीत जाने के बाद भी किसी भी विभाग में न तो भर्ती खुली है और न ही रोजगार के साधन उपलब्ध हो पाये हैं। राज्य सरकार द्वारा पर्वतीय जनपदों से पलायन रोकने के लिए पलायन आयोग का भी गठन किया गया परन्तु पलायन आयोग युवाओं का पलायन रोकने में सफलत नहीं हो पाया अपितु खुद ही पलायन कर गया। आज पूरे देश में कोरोना महामारी के उपरान्त उत्तराखण्ड के नौजवान बडी संख्या मे एक बार पुनः अपने गांव लौट चुके हैं ऐसे में राज्य सरकार को वापस लौट चुके नागरिकों को अपने राज्य में ही रोजगार उपलब्ध कराने के लिए ठोस प्रयास करने चाहिए ताकि उन्हें पुनः पलायन के लिए मजबूर न होना पड़े। इसके लिए कांग्रेस पार्टी राज्य सरकार से मांग करती है कि अन्य राज्यों से वापस आये प्रवासी बेरोजगारों को रोजगार हेतु राज्य सरकार 5 लाख की सहायता राषि प्रदान करे। प्रीतम सिंह ने यह भी कहा कि राज्य में बेरोजगारों की लाईन दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है ऐसे में राज्य में व्याप्त बेरोजगारी को समाप्त करने के लिए तत्काल विभिन्न विभागों में भर्तियां खोलकर बेरोजगार नौजवानों की नियुक्ति प्रक्रिया प्रारम्भ की जानी चाहिए।
प्रीतम सिंह ने कहा कि भाजपा नेताओं ने विधानसभा चुनाव में वादा किया था कि राज्य के किसानों का ऋण माॅफ किया जायेगा तथा भाजपा ने अपने दृश्टि पत्र में राज्य के गन्ना किसानों से वादा किया था कि राज्य में भाजपा की सरकार बनने की दषा में गन्ना किसानों का बकाया भुगतान 15 दिन के भीतर किया जायेगा। राज्य सरकार के कार्यकाल को साढे तीन वर्श बीत जाने के उपरान्त भी राज्य सरकार अपने इस वायदे पर अमल करने में विफल रही है तथा गन्ना किसानों के अवषेश का भुगतान आज तक नहीं हो पाया है। प्रदेष की चीनी मिलों द्वारा पिछली फसलों का अभी तक भुगतान नहीं किया गया है जिससे गन्ना किसान असमंजस की स्थिति में हैं। गन्ने का बकाया भुगतान न होने से प्रदेष में कई किसान आत्महत्या कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में किये गये वादे के मुताबिक भाजपा सरकार राज्य के किसानों का ऋण माॅफ करे तथा गन्ना किसानों के पिछले बकाये का तुरन्त भुगतान करे। प्रीतम सिंह ने कहा कि राज्य की भाजपा सरकार ने तीर्थ पुरोहित और मन्दिर समिति के लोगों को विष्वास में लिए बिना श्राईन बोर्ड (चारधाम देवस्थानम) का गठन कर उत्तराखण्ड के तीर्थ पुरोहित समाज के अधिकारों का हनन किया है। कांग्रेस पार्टी सत्ता में आने पर इसे समाप्त करेगी।
उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में चारधाम यात्रा, कैलाश मानसरोवर यात्रा, हेमकुण्ड साहिब, पूर्णागिरी, पिरान कलियर, नीलकंठ यात्रा से जुडे पर्यटन व्यवसाय रिवर राफ्टिंग, होटल व्यवसाय, गेस्ट हाउस, छोटे व्यवसायियों का व्यापार तथा पर्वतीय मार्गों एवं यात्रा मार्गों पर चलने वाले वाहन जीप, मैक्स लोगों के रोजगार के एकमात्र साधन हैं जो पूरी तरह बन्द पड़े हैं। इन व्यवसायों से जुडे लोग बेरोजगार हो चुके हैं उनके लिए भी रोजगार की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए।
पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि हमें एकजुट होकर भाजपा सरकार की नाकामियों को जनता तक ले जाना है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने अपने पूरे कार्यकाल में राज्य में एक भी नई योजना की शुरूआत नहीं की बल्कि पिछली कांग्रेस सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को ही बंद करने का काम किया। हमें भाजपा सरकार की विफलताओं को जनता तक पहुंचाना है तथा आगामी चुनाव में एकजुट होकर पार्टी को पुनः राज्य की सत्ता में स्थापित करना है।
नेता प्रतिपक्ष डाॅ0 इन्दिरा हृदयेष ने अपने संबोधन में कहा कि राज्य सरकार हर क्षेत्र में विफल साबित हो चुकी है। चाहे मंहगाई का मुद्दा हो, चाहे बेरोजगारी का, चाहे किसानों का हो या मजदूरों का राज्य की भाजपा सरकार के राज में हर वर्ग पीडित है। पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं को साथ मिलकर भाजपा सरकार की नाकामियों को प्रदेश के जनता के सामने उजागर करना है।
पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने कहा कि राज्य की डबल इंजन सरकार का इंजन फेल हो गया है। भाजपा सरकार ने अपने साढे तीन साल के कार्यकाल में अभी तक विकास का एक भी कार्य नहीं किया है। कांग्रेस सरकार ने अपने पिछले कार्यकाल में जो जनहित की योजनाएं चलाई थी वे भाजपा सरकार द्वारा एक के बाद एक बंद की जा रहीं है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं को भाजपा सरकार की विफलताओं को जनता तक पहुंचाना है ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य की जनता भाजपा को सबक सिखा सके।
बैठक में प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत, डाॅ0 संजय पालीवाल, नवीन जोशी, राजेन्द्र शाह, पी0 केे0 अग्रवाल, मनमोहन सिंह मल्ल, भुवन कापड़ी, याकूब सिद्वीकी, राजपाल खरोला, श्रीमती गोदावरी थापली, ताहिर अली, प्रो0 बलवन्त सिंह, यशपाल राणा, श्रीमती लक्ष्मी राणा, सतीश कुमार, महेश शर्मा, अतोल रावत, पुष्कर जैन, हिमांशु गावा, घनानन्द नौटियाल, श्रीमती ममता हल्दर, हरिकृष्ण भट्ट, गोविन्द सिहं बिष्ट, ललित फस्र्वाण एवं हेमेश खर्कवाल उपस्थित थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top