Breaking News
Home / उत्तर प्रदेश / काम का इनाम….ज्वेलर्स लूट में खुलासे के बाद पुलिस टीम के लिए इनाम की घोषणा
काम का इनाम….ज्वेलर्स लूट में खुलासे के बाद पुलिस टीम के लिए इनाम की घोषणा

काम का इनाम….ज्वेलर्स लूट में खुलासे के बाद पुलिस टीम के लिए इनाम की घोषणा

देहरादून
प्रदेश की राजधानी में 10 दिन बाद ज्वेलर्स लूट का खुलासा करने वाली पुलिस टीम पर पुरुस्कारो की घोषणा से टीम का मनोबल बढ़ा है।इसके लिए पुलिस मुख्यालय के साथ ही DIG गढ़वाल और DIG/SSP देहरादुन ने भी पुरुस्कार देने की घोषणा की है।

22 सितम्बर को पटेलनगर थाना क्षेत्र में हुई ज्वेलर्स से दो बाइक पर सवार चार बदमाशों ने गोली मारकर लूट की थी।घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पुलिस उपमहानिरीक्षक /वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा 2500/- ₹, पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परीक्षेत्र महोदय द्वारा ₹5000/- तथा पुलिस मुख्यालय उत्तराखंड द्वारा ₹20000/- पुरस्कार देने की घोषणा की गई है।

खुलासा करने में जिन पुलिसकर्मियो ने काम किया उनका जिक्र भी जरूरी है इनके नाम इस प्रकार से हैं…

पुलिस टीम: (बुलन्दशहर)

01- श्री प्रदीप बिष्ट, प्रभारी निरीक्षक पटेलनगर
02- उ0नि0 धर्मेन्द्र सिंह रौतेला
03- उ0नि0 दिलबर सिंह नेगी
04- व0उ0नि0 भुवन चन्द पुजारी
05 : उ0नि0 आशीष रावत
06: कां0 दीप प्रकाश ,
07: कां0 नरेन्द्र,
08: कां0 चमन
09: कां0 ललित

पुलिस टीम: (दिल्ली)

01: उ0नि0 नरेश राठौड
02: उ0नि0 दीपक धारीवाल
03: कां0 श्रीकांत ध्यानी,
04: कां0 राजीव कुमार,
05: कां0 अमित

टीम एस0ओ0जी0
1- श्री ऐश्वर्य पाल, एसओजी प्रभारी
2- उ0नि0 मोहन सिंह
3- उ0नि0 विवेक भंडारी
4- उ0नि0 अर्जुन गुसाईं
5- कांस्टेबल आशीष शर्मा
6- का0 प्रमोद sog
7- का0 नवीन कोहली
8- का0 परमेन्द्र
9- का0 किरण

यहां इनके विशेष कार्य का भी जिक्र किया जाना जरूरी है

घटना के अनावरण हेतु गठित टीम में उ0नि0 धर्मेन्द्र रौतेला, उ0नि0 दिलबर सिंह नेगी, उप निरीक्षक नरेश राठौर, उप निरीक्षक दीपक धारीवाल, उ0नि0 आशीष रावत, कां0 दीप प्रकाश, कां0 नरेन्द्र कां0 चमन तथा कां0 ललित द्वारा Outstanding कार्य किया गया। पूरी टीम द्वारा पूरे जनून के साथ घटना के अनावरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए अभियुक्तों की शिनाख्त हेतु देहरादून तथा देहरादून से जलालाबाद के मध्य लगभग 150 कि0मी0 के मार्ग पर 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेजों का गहनता से अवलोकन किया गया। सीसीटीवी फुटेजों को जुटाने तथा उनका अवलोकन करते हुए अभियुक्तों के आने के मार्ग की जानकारी के दौरान कई बार टीम को अलग-अलग सम्पर्क मार्गों पर जाकर निराशा हाथ लगी, परन्तु टीम द्वारा अपने कर्तव्य की परिधी से बाहर जाकर पूरे जनून के साथ दिन-रात घटना के अनावरण हेतु निरन्तर प्रयत्नशील रहते हुए कार्य किया गया। जिससे इतने कम समय में दून पुलिस द्वारा उक्त शातिर अपराधियों के चक्रव्यूह को तोडते हुए उन्हें गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की। टीम मे मौजूद उ0नि0 आशीष रावत की धर्मपत्नी की कुछ समय पूर्व सिजेरियन डिलीवरी हुई है, जिस कारण अपने परिवार को समय देने के लिये उनके द्वारा पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून से आग्रह कर स्वंय को चौकी प्रभारी के पद से अवमुक्त कराते हुए कार्यालय सम्बद्ध कराया गया था, परन्तु घटना के घटित होने के बाद से ही उनके द्वारा पूर्ण समपर्ण भाव से निरन्तर अपने जनून को बरकरार रखते हुए घटना के अनावरण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गयी। साथ ही टीम के अन्य सदस्यों द्वारा भी इसी कर्तव्यनिष्ठा व समर्पण भाव का प्रदर्शन किया गया।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top