Breaking News
Home / इंडिया / देहरादुन के नामचीन सीए आरपी ईश्वरन के घर हुई सितम्बर 2019 की डकैती मामले में एक ओर गिरफ्तार
देहरादुन के नामचीन सीए आरपी ईश्वरन के घर हुई सितम्बर 2019 की डकैती मामले में एक ओर गिरफ्तार

देहरादुन के नामचीन सीए आरपी ईश्वरन के घर हुई सितम्बर 2019 की डकैती मामले में एक ओर गिरफ्तार

देहरादून

सीए ईश्वरन के घर हुई लूट में वांछित एक ओर अभियुक्त फईम को पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की हे हालाँकि एक अभुक्त अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है।इसके खुलासे के लिए उपमहानिरीक्षक/एसएसपी द्वारा मत्रकार वार्ता का,आयोजन कर इसका खुलासा किया।

22 सितम्बर 2019 की रात को आर0पी0 ईश्वरम निवासी मसूरी रोड़ निकट मैक्स अस्पताल देहरादून पर चार हथियारबन्द लोगो ने बन्धक बना कर उनके घर से नगदी, ज्वैलरी व अन्य सामान लूट लिया था। गठित टीमो द्वारा आसपास के सीसीटीवी कैमरो को चैक करते हुए घटना में प्रयुक्त वाहन को चिन्हित कर सीसीटीवी फुटेजों व सर्विलांस के माध्यम से घटना मंे संलिप्त अभियुक्तों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करते हुए 30 सितम्बर 2019 को घटना में शामिल चार अभियुक्तों 1- विरेन्द्र सिंह उर्फ ठाकुर 2- मौ0 अदनान 3- मुजिफुर्ररहमान उर्फ पीरू तथा 4- फुरकान को दिल्ली तथा छुटमलपुर के पास से गिरफ्तार कर उनके पास से घटना में लूटी गयी ज्वैलरी व नगदी बरामद की थी। अभियुक्तों से पूछताछ में प्रकाश में आये अन्य अभियुक्तों, फिरोज को नोएडा से, हैदर को नूरपुर बिजनौर से तथा मौ0 अरशद को चांदनी महल बाजार, नई दिल्ली से गिरफ्तार किया गया था। घटना में सम्मिलित दो अन्य अभियुक्तों फईम पुत्र शाहबुद्दीन निवासी रघुवीर नगर नई दिल्ली तथा मिश्रा की तलाश हेतु पुलिस टीम लगातार प्रयासरत थी। लाकडाउन समाप्त होने के पश्चात अनलाॅक की प्रक्रिया में व्यवसायिक गतिविधियां शुरू होने के कारण लोगों की आवाजाही बढने से आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त अपराधियो के सक्रिय होने की सम्भावना के दृष्टिगत देहरादुन पुलिस द्वारा पूर्व के आपराधिक मामलों में वांछित चल रहे अभियुक्तों के दोबारा सक्रिय होने से पूर्व ही उनकी गिरफ्तारी हेतु क्उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश निर्गत किये गये थे तथा पूर्व में घटित अपराधों में वांछित अभियुक्तों की सूची तैयार कर ऐसे अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु क्षेत्राधिकारी एसओजी के नेतृत्व में अलग-अलग टीमों का गठन किया गया था।गम्भीर अपराधो में वांछित चल रहे अभियुक्तों का नाम सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखा गया, जिसमें राजपुर थाना क्षेत्र में घटित डकैती की घटना में वांछित चल रहे अभियुक्तों फईम व मिश्रा की तलाश हेतु पुलिस टीम को दिल्ली रवाना किया गया । टीम को सूचना मिली कि अभियुक्त फईम का ससुराल रामपुर उत्तरप्रदेश में है तथा वर्तंमान में उसकी पत्नी व बच्चे रामपुर में रह रहे हैं, जिनसे मिलने वह बीच-बीच रामपुर आता रहता है। सूचना पर एक टीम को तत्काल रामपुर रवाना कर अभियुक्त के सम्बन्ध में जानकारी हेतु गोपनीय रूप से अभियुक्त के ससुराल व उसके परिचितों पर सतर्क दृष्टि रखी गयी, जिस पर पुलिस टीम को जानकारी मिली कि फईम की बहनें मुरादाबाद में रहती हैं, जिनसे वह अक्सर मिलता रहता है, जिस पर एक टीम को मुरादाबाद रवाना करने के बाद टीम को सूचना मिली कि फईम मुरादाबाद के करूला क्षेत्र में छुप कर रह रहा है। जिस पर अभियुक्त फईम को
जो कि करूला क्षेत्र से गिरफ्तार किया गया, जिसके कब्जे से घटना में लूटी गयी धनराशि व अन्य सामान भी बरामद हुआ।
पत्रकार वार्ता के दौरान पूछताछ में अभियुक्त फईम द्वारा बताया गया कि वह अदनान का बचपन का दोस्त है तथा पूर्व में अदनान व उसका परिवार सदर बाजार नई दिल्ली में साथ में रहता था, उसके पश्चात मेरे पिताजी द्वारा सीमापुरी में हमारा अपना घर बना लिया तथा हम वहां शिफ्ट हो गये। सीमापुरी जाने के बाद भी अदनान और मैं लगातार एक-दूसरे के सम्पर्क में रहते थे, मैं सीमापुरी में पुराने कपडों की फेरी लगाकर उन्हें बेचने का काम करता था। वर्ष 2016-17 में मेरे भाई शाहरूख की शादी के दौरान मेरी अदनान से दोबारा मुलाकात हुई, उस समय मुझे पैसों की काफी तंगी चल रही थी जिसके सम्बन्ध में मेरे द्वारा अदनान को बताया गया। देहरादून में डकैती की घटना को अंजाम देने से कुछ समय पूर्व अदनान ने मुझसे सम्पर्क कर उक्त घटना की योजना के बारे में बताते हुए अपने साथ शामिल होने के लिये कहा तथा इसकी एवज में मोटी धनराशि मिलने की बात कही, चूंकि मुझे पहले से ही पैसों की तंगी चल रही थी इसलिये मैं इसके लिये तुरन्त तैयार हो गया। उसके पश्चात मेरे द्वारा अपने एक साथी मिश्रा की मुलाकात अदनान से करवायी तथा उसे भी इस योजना के बारे में बताते हएु टीम मंे शामिल कर लिया। मिश्रा से मेरी मुलाकात 2013 में तिहाड जेल में हुई थी, जहां वह चेन स्नैचिंग के अपराध में सजा काट रहा था। योजना के अनुसार दिनाँक 22 सितम्बर 2019 को हमने राजपुर क्षेत्र में उक्त डकैती की घटना को अंजाम दिया। घटना के पश्चात लूटी गयी धनराशि व ज्वैलरी का हमने आपस में बटवारा कर लिया तथा अपने-अपने घरों को चले गये। कुछ समय पश्चात मुझे पता चला कि देहरादून पुलिस द्वारा दिल्ली से अदनान व विरेन्द्र ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिससे मैं काफी डर गया और अक्टूबर में ही दिल्ली से मुरादाबाद आकर करूला क्षेत्र में किराये के मकान मे रहने लगा। इस बीच पुलिस की गतिविधियां तेज होने के कारण मैने अपनी पत्नी तथा बच्चों को अपने ससुराल रामपुर में बुला लिया, पुलिस के डर से मैं तब से ही मुरादाबाद में छुप कर रह रहा था। लूट की घटना में लूटे गये महंगी-महंगी घडियां, बैल्ट, एण्टीक मूर्ती, हैण्डबैग व अन्य कीमती सामान हैदर, अदनान व विरेन्द्र ठाकुर ने अपने पास रख लिये थे, इनसे यह सामान बरामद किया जा सकता है। मेरे पास से बरामद कीमती घडी व चैन उसी लूट की घटना की हैं।
वार्ता में अभियुक्त फईम का आपराधिक इतिहास बताया गया जिसमें मु0अ0सं0: 833/09 धारा 399 भा0द0वि0 थाना सिंहनीगेट नई दिल्ली,
मु0अ0सं0: 543/10 धारा 395/397/506/120बी भा0द0वि0 थाना मण्डावली
,मु0अ0सं0: 10/11 धारा 302 भा0द0वि0 थाना गोलशाहिद,मु0अ0सं0: 238/11 धारा 392/34 भा0द0वि0 थाना न्यू उस्मानपुर,
मु0अ0सं0: 240/11 धारा 392/397/34 भा0द0वि0 व 25/54/59 आम्र्स एक्ट थाना ज्योतिनगर, मु0अ0सं0: 766/11 धारा 392 भा0द0वि0 थाना साहिबाबाद,मु0अ0सं0: 915/11 धारा 307 भा0द0वि0 व 25 आम्र्स एक्ट थाना साहिबाबाद,मु0अ0सं0: 212/12 धारा 380 भा0द0वि0थाना पांडवनगर।
09: मु0अ0सं0: 384/12 धारा 384 भा0द0वि0 थाना पांडवनगर, मु0अ0सं0: 132/13 धारा 380 भा0द0वि0 थाना कमला मार्केट,मु0अ0सं0: 246/13 धारा 452/394/506 भा0द0वि0 थाना साहिबाबाद,मु0अ0सं0: 39/13 धारा 186/353/307 भा0द0वि0 व 25/27 आम्र्स एक्ट थाना विशेष शाखा नई दिल्ली,मु0अ0सं0: 85/13 धारा 356/379/34 भा0द0वि0 थाना सरोजनीनगर,मु0अ0सं0: 162/13 धारा 382/34 भा0द0वि0 थाना सरोजनीनगर।
15: मु0अ0सं0: 447/13 धारा 392/397/411/34 व 25 आम्र्स एक्ट भा0द0वि0 थाना खजूरी खास,मु0अ0सं0: 148/19 धारा 392/395/342/506 भा0द0वि0 थाना राजपुर भी है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top