Home / Featured / किसानों को बदनाम करने की साजिश के पीछे बीजेपी के कार्यकर्ता, कृषि कानून जबरदस्ती लागू कर किसानों को सड़कों पर लाने की साजिश में लगे थे….रविन्द्र जुगरान
किसानों को बदनाम करने की साजिश के पीछे बीजेपी के कार्यकर्ता, कृषि कानून जबरदस्ती लागू कर किसानों को सड़कों पर लाने की साजिश में लगे थे….रविन्द्र जुगरान

किसानों को बदनाम करने की साजिश के पीछे बीजेपी के कार्यकर्ता, कृषि कानून जबरदस्ती लागू कर किसानों को सड़कों पर लाने की साजिश में लगे थे….रविन्द्र जुगरान

देहरादून

 

आप नेता रवींद्र जुगरान ने आप पार्टी में शामिल होने के बाद आज एक पत्रकार वार्ता के दौरान ,किसान आंदोलन और किसानों को बदनाम करने की साजिश के पीछे ,बीजेपी का हाथ बताया। उन्होंने कहा बीजेपी के लोग किसानों को बदनाम करने की साजिश कर रहे हैं । इनके लोग चाहे दिल्ली में लालकिला हो ,गाजीपुर बॉर्डर हो या मुज्जफर नगर हो हर जगह किसानों को बदनाम करने के लिए उनके बीच शामिल होकर ,इस आंदोलन को कुचलने के साथ साथ किसानों को बदनाम करने के प्रयासों में लगातार लगे हैं। ये तस्वीरें आप देख सकते हैं जिसमें चाहे लाल किला पर हमला हो या गाजीपुर में उग्र प्रदर्शन सबमें ये बीजेपी के लोग दिखाई दे रहे तस्वीरों में आप साफ तौर पर देख सकते कैसे ये बीजेपी के लोग आंदोलन में घुसकर,किसानों को बदनाम कर रहे ,उनके साथ बीजेपी धोखा कर रही। पिछले दिनों मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए ऐसी कई तस्वीरें बार बार सामने आ रही है जिसमें बीजेपी कार्यकर्ता किसानों के बीच हर जगह किसान बनकर भीड़ में शामिल हुए और इस दौरान हुए उग्र प्रदर्शन में बीजेपी के ये लोग शामिल रहे जिनमें ज्यादातर बीजेपी कार्यकर्ताओं की फोटो बीजेपी के बड़े नेताओं समेत प्रधानमंत्री,सांसदों के साथ रही है ।

 

आप नेता रवींद्र जुगरान ने कहा, लाल किले पर हमले में बीजेपी के लोग शामिल थे ,सिंधु बॉर्डर पर भी बीजेपी के लोग शामिल थे जिससे साफ पता चलता इस आंदोलन को कुचलने के पीछे बीजेपी की साजिश है । वो किसानों को बदनाम करने का षड्यंत्र रच रहे हैं । बीजेपी ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन को कुचलने के लिए बिजली पानी तक काट दिया था ताकि किसान परेशान हो जाएं लेकिन अरविंद केजरीवाल ने किसानों को परेशान नहीं होने दिया उनको पानी की व्यवस्था करवाई। उन्होंने कहा ये किसानों का आंदोलन है जिसमें बीजेपी के लोग घुसकर किसानों के साथ धोखा कर रहे हैं ।

 

आप नेता रविन्द्र ने कहा बीजेपी शुरू से किसानों के खिलाफ लाए तीनों कृषि कानूनों को जबरदस्ती लागू कर किसानों को सड़कों पर लाने की साजिश में लगे थे। उसके बाद किसानों को बरगलाने के लिए बीजेपी के कई नेता मैदान में उतर कर कृषि कानूनों के पक्ष और किसानों के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी पर उतर आए थे यहां तक बीजेपी के कई नेताओं ने इन किसानों को उग्रवादी,खालिस्तानी तक कहने में कोई गुरेज नहीं की। लेकिन जब किसान कृषि कानूनों को वापिस करने की अपनी मांगो पर डटे रहे और पूरे देश के किसान बिल के खिलाफ हो गए तो बीजेपी ने अपने कार्यकर्ता इनके बीच भेजकर इस आंदोलन को कुचलने के साथ साथ किसानों को बदनाम करने का कोई भी मौका नहीं छोड़ा। आज तस्वीरें जब मीडिया और सोशल मीडिया के जरिए बाहर आई तो इनके साजिश का पर्दा फाश हो गया।

 

आप नेता ने कहा,बीजेपी हमेशा से किसान विरोधी रही है । ये किसानों को महज अपने वोट बैंक के लिए यूज करती है इनको किसानों के हित से कोई सरोकार नहीं जबकि आम आदमी पार्टी शुरू से किसानों के हित की बात करती रही है। चाहे आंदोलन के दौरान दिल्ली में उनको तमाम व्यवस्थाएं करने से लेकर केंद्र को किसानों को जेल बनाने के लिए स्टेडियम की मांग को दरकिनार किया। आप के मुख्यमंत्री केजरीवाल,उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया समेत दिल्ली के कई आप नेता लगातार आंदोलन के दौरान किसानों से मिलने बॉर्डर पर धरनास्थल पहुंचे। जबकि बीजेपी का कोई नेता,प्रधानमंत्री ,मंत्री किसानों की सुध लेने नहीं पहुंचा। इस दौरान आप नेता ने आंदोलन में शहीद किसानों को श्रद्धांजलि देते हुए उनके प्रयासों को पूरा करने की बात कही

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top