Home / Featured / भारतीय ग्रामोत्थान संस्था, ढालवाला ऋषिकेश में महिलाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन
भारतीय ग्रामोत्थान संस्था, ढालवाला ऋषिकेश में महिलाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

भारतीय ग्रामोत्थान संस्था, ढालवाला ऋषिकेश में महिलाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन

देहरादून/ऋषिकेश

ऋषिकेश के अंतर्गत भारतीय ग्रामोत्थान संस्था, ढालवाला में स्थानीय महिलाओं के प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने महिलाओं को प्रशिक्षण के लिए प्रशस्ति पत्र भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भारत को आत्मनिर्भर बनाने एवं लोकल के लिए वोकल के मंत्र को प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से ही साकार किया जा सकता है।

विकास आयुक्त हस्तशिल्प, भारत सरकार एवं जिला उद्योग केंद्र, नरेंद्र नगर के सौजन्य से भारतीय ग्रामोत्थान संस्था, ढालवाला द्वारा भीमल, जूट रेशे से निर्मित सामग्री को बनाने हेतु स्थानीय महिलाओं को 60 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया।इस कार्यशाला के दौरान बापू ग्राम, गुमानीवाला, ढालवाला एवं अन्य क्षेत्रों की 20 महिलाओं ने प्रशिक्षण लिया।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यक्रम से पूर्व भारतीय ग्रामोत्थान संस्था द्वारा निर्मित होने वाले उत्पादों का अवलोकन किया। वहीं श्री अग्रवाल ने संस्था के कॉमन फैसिलिटी सेंटर का भी निरीक्षण किया।

इस अवसर पर संस्था के प्रबंधक अनिल चंदोला ने विधानसभा अध्यक्ष को सेंटर में बनने वाले उत्पादों की प्रक्रिया से संबंधित जानकारी से अवगत कराया।उन्होंने बताया कि भारतीय ग्रामोत्थान संस्था विगत 32 वर्षों से हथकरघा व हस्तशिल्प को संगठित कर ग्रामीण विकास में स्वयं सहायता समूह के माध्यम से आय उत्पादक गतिविधियों को संचालित कर रही है।जिसमें अभी तक हजारों महिलाओं द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त कर उन्हें स्वरोजगार के अवसर प्रदान किए गए हैं।

इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण एवं लोकल फॉर वोकल की दिशा में भारतीय ग्रामोत्थान संस्था सराहनीय कार्य कर रही है। अग्रवाल ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा संचालित प्रधानमंत्री स्वरोजगार सृजन योजना एवं प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना से जुड़कर सभी प्रशिक्षित महिलाएं अपना स्वरोजगार शुरू कर सकती है एवं अन्य लोगों को भी रोजगार प्रदान कर सकती हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि स्वदेशी भारत की अनेक समस्याओं का समाधान है। स्वदेशी का विचार लोगों के मन में बैठ गया तो लाखों लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार मिलेगा। स्थानीय प्रतिभा को आगे बढ़ने का अवसर मिलगा।हमारे कुशल कारीगरों के हाथ मजबूत होंगे। श्री अग्रवाल ने आह्वाहन किया कि हमें हस्तशिल्प और हथकरघा को प्रोत्साहन प्रदान करने के लिए और अधिक दृढ़ प्रयास करने होंगे।

इस अवसर पर संस्था के जनसंपर्क अधिकारी एनपी कुकसाल, उद्योग विभाग के सहायक प्रबंधक कल्याण सिंह, विनोद डिमरी, रीना पुंडीर, ममता नेगी, रामसेवक रतूड़ी, वीना भट्ट, भक्ति बलोनी, बीना बगियाल सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top