Home / Featured / जन्मदिन पर बोले सीएम त्रिवेंद्र कोरोना से बचाव जरूरी,केंद्र सरकार ने महिलाओं के सिर से लकड़ी का बोझ हटाया हम सिर से घास का बोझ हटाएंगे
जन्मदिन पर बोले सीएम त्रिवेंद्र कोरोना से बचाव जरूरी,केंद्र सरकार ने महिलाओं के सिर से लकड़ी का बोझ हटाया हम सिर से घास का बोझ हटाएंगे

जन्मदिन पर बोले सीएम त्रिवेंद्र कोरोना से बचाव जरूरी,केंद्र सरकार ने महिलाओं के सिर से लकड़ी का बोझ हटाया हम सिर से घास का बोझ हटाएंगे

देहरादून

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जन्म दिवस पर देहरादून के बालावाला में आयोजित कार्यकम में वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए मुख्यमंत्री ने कोविड से बचाव के नियमों का अनुपालन करने की अपील की।

सीएम ने कहा कि मेरा स्वास्थ्य बिल्कुल ठीक है। आप भी अपना ध्यान रखिये। गौरतलब है कि हाल ही में मुख्यमंत्री त्रिवेद्र सिंह रावत की रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आ गए थे, और डॉक्टर की सलाह पर अब होम आइसोलेशन में हैं। अपने आवास से ही उन्होंने अपने शुभचिंतकों को जन्मदिन के मौके पर संबोधित किया।

अपने वर्चुअल संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा कि चुनाव में हमने जो वादे किए थे हम उन पर खरे उतरे हैं। प्रदेश में भ्रष्टाचार मिटाने का जो हमने संकल्प लिया था उस पर भी पूरी ताकत के साथ काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तिकरण की दिशा में राज्य सरकार ने उल्लेखनीय प्रयास किए हैं। प्रदेश में महिलाओं की आर्थिकी मजबूत करने के लिए उन्हें स्वरोजगार की दिशा में अवसर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। प्रदेश में कई ग्रोथ सेंटरों में महिलाएं बहुत अच्छा काम कर रही हैं। ग्रोथ सेंटर में बेहतर कार्य करने वाली लोहाघाट की महिलाओं का सीएम ने उदाहरण दिया तो पहाड़ी रसोई के जरिए पचास लोगों को रोजगार देने वाली पूजा तोमर की भी बात कही।

वहीं प्रदेश की उर्गम घाटी में संचालित महिला समूह का भी मुख्यमंत्री ने जिक्र किया। कहा कि लीसा और प्लास्टिक के बेहतर उपयोग पर भी काम हो रहा है। सरकार का लक्ष्य शहर से लेकर दूरस्थ गांवों का भी विकास करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मां बहनों का आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाना जरूरी है। सरकार ने स्वामित्व योजना के जरिए महिलाओें को पति की सम्पत्ति में सहभागी बनाया है। कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रसोई गैस कनेक्शन देकर महिलाओं के सिर से लकड़ी की गठरी हटा दी है।

हमने प्रदेश में महिलाओं की सिर से घास की गठरी हटाने की दिशा में प्रयास शुरू कर दिए हैं। स्वरोजगार अपनाकर महिलाएं आत्मनिर्भर होंगी। तो घास इकट्ठा करने के सभी जोखिम खत्म हो जायेगे। कहा कि राज्य में 40 फीसद बजट स्वरोजगार के क्षेत्र में खर्च किया जा रहा है।
कोरोना से बचाव का संदेश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 से बचाव के नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करें। अगर किसी को लक्षण महसूस होते हैं तो डाक्टर का परामर्श लें। और नियमों का पालन करें। तभी जाकर हम कोरोना को हरा पायेंगे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top