Home / Featured / देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन न लगे व कोविड टेस्ट के नाम पर 2000 रूपये की धनराशि में हो छूट…लालचंद शर्मा
देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन न लगे व कोविड टेस्ट के नाम पर 2000 रूपये की धनराशि में हो छूट…लालचंद शर्मा

देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन न लगे व कोविड टेस्ट के नाम पर 2000 रूपये की धनराशि में हो छूट…लालचंद शर्मा

देहरादून
देहरादून महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने जिलाधिकारी से मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपते हुए कोरोना महामारी के नाम पर देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन न लगाये जाने एवं कोविड टेस्ट के नाम पर ली जाने वाली 2000 रूपये की धनराशि में छूट दिये जाने की मांग की।

जिलाधिकारी को सौंपे ज्ञापन में लालचन्द शर्मा ने कहा कि संज्ञान में आया है कि राज्य सरकार द्वारा कुछ व्यापारियों के प्रस्ताव पर कोरोना महामारी के संक्रमण का हवाला देते हुए देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन लगाये जाने का प्रस्ताव दिया जा रहा है।
उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के चलते लगाये गये पिछले लाॅक डाउन में महानगर के व्यापारियों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ा है तथा उनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। विषेशतः छोटे दुकानदार एवं फड व्यवसाय करने वाले व्यापारियों को काफी नुकसान उठाना पडा। छोटे व्यापार करने वाले कई लोगों को अपने कर्मचारियो का वेतन एवं परिवार का भरण-पोषण करने में भी कठिनाई का सामना करना पड़ रहा है ऐसे में इस प्रकार का निर्णय छोटे-छोटे व्यावसायिक प्रतिष्ठान चलाने वालांे के हित मंे नहीं है। अब पुनः लाॅक डाउन की स्थिति में छोटे व्यापारियों का व्यवसाय पूर्ण रूप से प्रभावित होगा। इसी प्रकार बारबर का व्यवसाय करने वाले कई लोग पहले लगाये गये लाॅक डाउन के कारण बेरोजगार हो चुके हैं तथा पुनः लाॅक डाउन की स्थिति में उनके सामने भी रोजी रोटी का संकट खड़ा हो जायेगा।
प्रतिनिधिमण्डल ने जिलाधिकारी के सौंपे ज्ञापन में यह भी कहा कि महानगर के सभी बाजार एवं अन्य प्रतिष्ठानों को खोलने की अनुमति दी जा चुकी है। इसी प्रकार देहरादून शहर के मध्य स्थित एकमात्र पार्क गांधी पार्क को खोलने की अनुमति प्रदान की जाय।
उन्होने यह भी कहा कि राज्य सरकार की गाइड लाईन के अनुसार जो लोग बाहरी राज्यों से उत्तराखण्ड राज्य की सीमा में प्रवेश करेंगे उनका कोविड टेस्ट अनिवार्य रूप से किया जायेगा जिसके लिए उन्हें बार्डर पर ही 2000 रूपये नकद रूप में चुकाने होंगे। ऐसे में गरीब वर्ग के लोगों को इतनी बडी धनराशि चुकाना संभव नहीं हो पायेगा तथा वे अपने आवश्यक कार्य से भी राज्य की सीमा में प्रवेश नहीं कर पायेंगे।
प्रतिनिधिमण्डल ने जिलाधिकारी से अनुरोध किया कि कोरोना महामारी के नाम पर देहरादून महानगर में पुनः लाॅक डाउन न लगाये जाने एवं कोविड टेस्ट के नाम पर ली जाने वाली 2000 रूपये की धनराशि में छूट दिये जाने के सम्बन्ध में आवश्यक निर्देश जारी किये जांय।
प्रतिनिधिमण्डल में राजकुमार, केवल पुण्डीर, शकील अहमद, राजीव पुंज, मोहेंद्र मल्होत्रा आदि शामिल थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top