Home / Featured / कोविड अनलॉक हुआ है, परंतु खत्म नहीं हुआ,इस स्लोगन को आधार बना कुम्भ मेले में काम करेगा एसडीआरएफ…रिद्धिम अग्रवाल
कोविड अनलॉक हुआ है, परंतु खत्म नहीं हुआ,इस स्लोगन को आधार बना कुम्भ मेले में काम करेगा एसडीआरएफ…रिद्धिम अग्रवाल

कोविड अनलॉक हुआ है, परंतु खत्म नहीं हुआ,इस स्लोगन को आधार बना कुम्भ मेले में काम करेगा एसडीआरएफ…रिद्धिम अग्रवाल

देहरादून

श्रीमती रिधिम अग्रवाल, पुलिस उप महानिरीक्षक, एसडीआरएफ/अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी, उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने पुलिस मुख्यालय स्थित सभागार में आयोजित बैठक में एसडीआरएफ के कार्यों की समीक्षा की।

बैठक में सम्बन्धित को कोविड सम्बन्धी प्रशिक्षण में तेजी लाने, जन जागरूकता बढ़ाने एवं किसी भी आपदा में रिसपोंस टाइम को सुधारने आदि विषयों पर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गए।

बैठक के दौरान श्रीमती रिधिम अग्रवाल द्वारा निम्न दिशा-निर्देश दिये गये…

👉अनलॉक हुआ है, परंतु कोविड खत्म नहीं हुआ इसी को आधार बनाते हुए कुम्भ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों के साथ भव्य व्यवहार करते हुए उन्हें कोविड अनुरूप व्यवहार करने के लिए प्रोत्साहित करें। कुम्भ मेले में समस्त स्टेक होल्डर्स- दुकानदारों, सम्बन्धित विभागों, बस ऑपरेटरों, ड्यूटीरत कर्मियों आदि में जनजागरूकता बढ़ाने हेतु व्यापक योजना बनाने हेतु निर्देश दिये।
👉कुम्भ मेला क्षेत्र में महत्वपूर्ण स्थानों का चयन कर वहां पर कोविड सम्बन्धी जागरूकता हेतु होर्डिंग्स, फ्लैक्सी एवं बैनर लगाए जाएं।
👉कुम्भ मेले के दौरान सोशल मीडिया के माध्यम से भी जनजागरूकता को बढ़ाने हेतु प्रोफेशनल एक्सपर्ट को भी मदद लिये जाने का निर्णय लिया गया।
👉सामुदायिक रेडियो एवं एफएम के माध्यम से भी जागरूकता बढ़ाये जाने का निर्णय लिया गया।
👉 वर्तमान में शीत लहरी के दौरान किसी भी आपदा में रिसपोंस टाइम को कम से कम करने हेतु निर्देशित किया गया।
👉काॅन्टेक्ट ट्रेसिंग टीमों द्वारा आइसोलेट व्यक्तियों को फोन पर दिये जा रहे प्रशिक्षण में तेजी लेने एवं इसमें आ रही समस्याओं के सम्बन्ध में भी अवगत कराने हेतु निर्देशित किया गया।
👉 वित्तीय वर्ष एवं आगामी वित्तीय वर्ष में राहत एवं बचाव कार्य हेतु अत्याधुनिक उपकरणों को क्रय करने के सम्बन्ध में भी निर्णय लिये गये। एसडीआरएफ द्वारा फायर फाइटिंग हेतु ऐसे ड्रोन्स क्रय किये जाएंगे, जिसमें नाइट विजन एवं थर्मल इमेजिंग की भी सुविधा होगी और उन्हें समस्त जनपदों को उपलब्ध कराया जाएगा।

रिद्धिम अग्रवाल ने बताया कि एसडीआरएफ, उत्तराखंड राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण एवं उत्तराखण्ड शासन से समन्वय स्थापित करते हुए एसडीआरएफ को और अधिक सुदृढ़ किया जाएगा।

बैठक में तृप्ति भट्ट, सेनानायक, एसडीआरएफ, अजय भट्ट, उपसेनानायक, एसडीआरएफ, सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top