मां बाप से बिछड़ी छोटी बच्ची को मिलाकर आंदोलनकारी प्रसन्न दिखे।

/center>

समाज के कार्यों के बीच चलते हुए अपने मानवता का फर्ज अदा करना कुछ लोग आज भी नही भूलते है।
देहरादून के नये धरना स्थल (अधोइवाला ) में बेरोजगार संगठन के साथ एक छोटी सी बच्ची जिसका नाम पता कुछ भी मालूम नहीं था वहां उन बच्चों के पास खड़ी रो रही थी बेरोजगार संगठनों के सदस्यों द्वारा आंगनबाड़ी कीे प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती रेखा गैरसैण राजधानी प्रमुख रणनीतिकार मनोज ध्यानी जी साथ में गैरसैण राजधानी के संयोजक मदन भंडारी , एवं यू के डी, की पूर्व उपाध्यक्ष प्रमिला रावत को जानकारी दी।उन्हीने बच्ची को पुलिस थाने ले जाकर रिपोर्ट दर्ज करवाई, लेकिन बच्ची का रोना सुन सब बहुत ही भावुक हो गए और उन्होंने यह निर्णय लिया कि जब तक बच्ची को उसके मां बाप के पास नहीं पहुंचा देते तब तक वह लोग घर नहीं जाएंगे और उन्होंने बच्चे को लेकर पूरे करणपुर चौकी से एकता बिहार घूमना शुरू किया। जैसे तैसे बच्ची की शिनाख्त होने पर उसको उसके मां बाप के पास सही सलामत पहुंचा कर सभी लोगों ने उसके मां को सलाह दी थी आइंदा बच्ची को इस तरह ना छोड़ें बच्चे की मां सोनिया इसी घर में झाड़ू पोछा करती है उसके पापा सतीश कुमार किसी छोटे हाथी गाड़ी को चलाते हैं बच्चे को पाकर पूरे परिवार में खुशी की लहर थी उन्होंने सभी लोगों का धन्यवाद किया जिसमें पूरे मोहल्ले के लोग भी उन लोगों का धन्यवाद करने उनके पास पहुंचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.