Home / इंडिया / युवाओं की आवाज हिंसा से दबने वाली नही…प्रीतम सिंह
युवाओं की आवाज हिंसा से दबने वाली नही…प्रीतम सिंह

युवाओं की आवाज हिंसा से दबने वाली नही…प्रीतम सिंह

जेएनयू में छात्रों के साथ हुई हिंसा के विरोध में कांग्रेस का कैंडल मार्च
युवाओं की आवाज़ हिंसा से दबाने की कोशिश कतई बर्दाश्त नहीं -प्रीतम सिंह
देहरादून: रविवार पांच जनवरी की रात देश की राजधानी दिल्ली में अराजक तत्वों द्वारा जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में कैम्पस में घुस कर छात्र छात्राओं पर जानलेवा हमला किये जाने व पूरे प्रकरण में दिल्ली पुलिस का मूक दर्शक बन कर तमाशा देखने की घटना के विरोध में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस मुख्यालय से कैंडल मार्च निकाला गया। कैंडल मार्च में पार्टी के सभी विधायक व पार्टी पदाधिकारी शामिल हुए।
पार्टी मुख्यालय में सम्बोधित करते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि बीजेपी व आरएसएस तथा उसके तमाम सहयोगी संगठन देश में लोकतंत्र को समाप्त करने की चरणबध्द साजिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में असहमति व मतभिन्नता का सम्मान होता है लेकिन आरएसएस व बीजेपी चाहती है कि देश में केवल उनकी विचारधारा जीवित रहे । कहा कि हिंसा के सहारे बीजेपी सरकार देश के युवाओं व विद्यार्थियों की आवाज़ दबाना चाहती है लेकिन कांग्रेस कतई बर्दाश्त नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस दमन का जवाब गांधी के अहिंसा के रास्ते से देगी । जेएनयू की घटना को देश के अंदर फासिस्टवाद को बेशर्मी से केंद्र सरकार का खुला समर्थन बताते हुए उन्होंने कहा कि छोटी छोटी घटनाओं पर ट्वीट करने वाले प्रधानमंत्री जी देश के सबसे महत्वपूर्ण विश्वविद्यालय में इतनी विभत्स घटना पर उनसे निंदा के दो शब्द नहीं निकले।
नेता प्रतिपक्ष डॉ इंदिरा हृदयेश ने कहा कि केंद्र की सरकार देश में बेरोजगारी , महंगाई, लड़खड़ाती अर्थव्यवस्था से जनता का ध्यान भटकाने के लिए तरह तरह के हथकंडे अपना रही है और जेएनयू का प्रकरण भी इसी का हिस्सा है। संचालन महानगर अध्यक्ष लालचन्द शर्मा ने किया।
कैंडल मार्च में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल, पूर्व प्रदेष अध्यक्ष किषोर उपाध्याय, विधायक ममता राकेश, विधायक फुरकान अहमद, विधायक आदेश चैहान, विधायक मनोज रावत,एआईसीसी के पूर्व सचिव प्रकाश जोशी प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, पूर्व मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण, पूर्व मंत्री मंत्री प्रसाद नैथानी, पूर्व मंत्री मातबर सिंह कंडारी, नवीन जोशी, राजेन्द्र षाह, गोदावरी थापली, जिला परवा दून अध्यक्ष गौरव चैधरी,जिला पछवा दून अध्यक्ष संजय किशोर, महानगर अध्यक्ष लाल चंद शर्मा, पूर्व विधायक राजकुमार, प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी, गिरीष पुनेड़ा, नवीन पयाल, दीप बोहरा, अष्वनी बहुगुणा, भरत षर्मा, देवेन्द्र सती, संदीप चमोली, नीनू सहगल, सीताराम नौटियाल, अशोक वर्मा, त्रिलोक सजवाण, पिया थापा, राजेश शर्मा, कमर सिद्दीकी, ललित भद्री, हरि प्रसाद भट्ट, रमेश कुमार पार्षद, इलियास अंसारी पार्षद, सागर गुरुंग पार्षद, अर्जुन सोनकर, नरेश गांधी, सावित्री थापा, अनुराधा, बाला षर्मा, रीता पुश्पवाण, नवीन रमोला, विकास नेगी, डीबी क्षेत्री, महेष जोषी, कुल्दीप चैधरी, महेष चैहान, यषपाल चैहान, आषा मनोरमा डोबरियाल षर्मा, आषा टम्टा, षोभा राम, मानवेन्द सिंह, मोहन काला, राजकुमार यादव, किषन पाल सिंह, मंजू, राजेन्द्र चैहान, सागर लाम्बा, सोमेन्द्र बोरा, हुकम सिंह गडिया, महेन्द्र रावत, रौबिन पंवार, रौबिन पुण्डीर,, हरिन्द्र बेदी, विनोद कुमार, अविनाष मणि आदि शामिल रहे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top