Breaking News
Home / Featured / प्रशिक्षण हर क्षेत्र और हर स्तर पर आवश्यक..आयुक्त रामविलास
प्रशिक्षण हर क्षेत्र और हर स्तर पर  आवश्यक..आयुक्त रामविलास

प्रशिक्षण हर क्षेत्र और हर स्तर पर आवश्यक..आयुक्त रामविलास

देहरादून
ग्राम्य विकास और पंचायतीराज विभाग के तत्वाधान में विकासखण्ड रायपुर में मिशन अन्त्योदय सर्वे एवं ग्राम पंचायत विकास योजना प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार ग्राम पंचायतों का मिशन अन्त्योदय सर्वे तथा ग्राम पंचायत विकास कार्यक्रम (जीपीडीपी) 2 दिसम्बर 2019 से 2 मार्च 2020 तक चलाया जायेगा और उक्त अभियान को उत्सव के रूप में मनाया जाना है। आयुक्त एवं अपर सचिव ग्राम्य विकास डाॅ रामविलास यादव, निदेशक एवं अपर सचिव पंचायतीराज एच.सी सेमवाल और मुख्य विकास अधिकारी देहरादून जी.एस रावत द्वारा कार्यशाला में  प्रतिभाग करते हुए गढवाल मण्डल के जिला विकास अधिकारियों, परियोजना निदेशक और रेखीय विभागों के अधिकारियों को गांव के सर्वागीण विकास हेतु प्रो-एक्टिव प्रयास करने के लिए प्रेरित किया गया तथा परिचर्चा में उठाये गये प्रश्नों का समाधान किया गया।
कार्यशाला में आयुक्त एवं अपर सचिव ग्राम्य विकास ने कहा कि मिशन अन्त्योदय और ग्राम पंचायत विकास योजना के अन्तर्गत दिये जा रहे प्रशिक्षण को इसी तरह जनपद एवं ब्लाॅक स्तर पर एवं टीम सर्वे के कार्मिकों को देना भी सुनिश्चित करें और निर्धारित अवधि में सर्वे एवं (जीपीडीपी) निर्माण की प्रक्रिया को पूरा करें। उन्होंने सर्वे से प्राप्त गैप रिपोर्ट को ग्राम सभा की खुली बैठक में रखवाते हएु गैप पूर्ति हेतु पंचायतीराज विभाग द्वारा ग्राम पंचायतों का ग्राम पंचायत डेवलपमैन्ट प्लान (जीपीडीपी) तैयार करने और अभियान के दौरान समस्त गतिविधियों की फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी एवं अभिलेखीकरण कर योजना के वेब पोर्टल www.gpdp.nic.in/missionantodaya.nic.in   प्रतिदिन अपलोड करने की बात कही।
निदेशक एवं अपर सचिव पंचायतीराज एच.सी सेमवाल ने अपने सम्बोधन में कहा कि मिशन अन्त्योदय सर्वे के तहत मोबाइल एप्प के द्वारा राज्य की समस्त ग्राम पंचायतों का सर्वे किया जाना है और इस सर्वेक्षण के लिए तैयार की गई विस्तृत बिन्दुओं की प्रश्नावली में ग्राम पंचायत की आधारभूत संरचना सहित समस्त सूचनाओं का डाटा एकत्र करें तथा उक्त सर्वे हेतु विकासखण्ड के माध्यम से सर्वेकर्ताओं का चयन करें, जिसमें सर्वेकर्ता के रूप में उच्च शिक्षण संस्थानों के छात्रों का भी चयन किया जा सकता है। उन्होंने उपरोक्त सर्वे को नियत समय में पूर्ण करने तथा सर्वे डाटा को मोबाइल एप्प से डाउनलोड करके सर्वे रिर्पोट को ग्रामसभा की खुली बैठक में यथा संशोधन हेतु रखने के निर्देश दिये साथ ही ग्राम सभा से अनुमोदित सर्वे को मिशन अन्त्योदय पोर्टल पर त्रुटिरहित  अपलोड करने के भी निर्देश दिये।
मुख्य विकास अधिकारी जी.एस रावत ने अपने संबोधन में मिशन अन्त्योदय सर्वे को धरातल पर जिम्मेदारी से करने और ग्राम पंचायत विकास योजना निर्माण में ग्रामीणों की सक्रिय भागीदारी पर बल दिया। उन्होंने कहा कि भारत सरकार के निर्देशानुसार विगत वर्ष की भांति इस वर्ष भी 2 अक्टूबर 2019 से 31 अक्टूबर 2019 तक पी.पी.सी-2019( People Plan Compaign) अभियान के तहत सभी ग्राम पंचायतों का मिशन अन्त्योदय सर्वे एवं जीपीडीपी प्लान तैयार किया जाना था किन्तु राज्य में त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन की आदर्श आचार संहिता के कारण उक्त अभियान 2 दिसम्बर 2019 से 2 मार्च 2020 तक संचालित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी विभागों द्वारा इस अभियान हेतु ग्राम सभा स्तर फ्रन्ट लाईन वर्कर नामित किया जाना है, जिनकों ग्राम सभा के सर्वे और बैठक में सहयोग किया जाना है। साथ ही सर्वे में सहयोग प्रदान करने हेतु फेसिलेटर्स भी नामित किया जाना है।
इस अवसर पर कार्यशाला में उप निदेशक ग्राम्य विकास विवेक उपाध्याय ने मिशन अन्त्योदय सर्वे एवं मोबाईल एप्प का प्रशिक्षण दिया और सहायक निर्देशक मनोज तिवारी द्वारा ग्राम पंचायत निर्माण की प्रक्रिया का प्रस्तुतीकरण दिया गया।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top