Breaking News
Home / Featured / Campaign on Tinospora cordifolia-Amrita for life अभियान के अन्तर्गत गिलोय की 2 लाख पौध फ्री बटेंगी…सुबोध उनियाल
Campaign on Tinospora cordifolia-Amrita for life  अभियान के अन्तर्गत गिलोय की 2 लाख पौध फ्री बटेंगी…सुबोध उनियाल

Campaign on Tinospora cordifolia-Amrita for life अभियान के अन्तर्गत गिलोय की 2 लाख पौध फ्री बटेंगी…सुबोध उनियाल

देहरादून
नगर निगम सभागार में राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, नई-दिल्ली द्वारा वित्तपोषित एवं राज्य औषधीय पादप बोर्ड उत्तराखंड द्वारा संचालित National Campaign on Tinospora cordifolia-Amrita for life अभियान के अन्तर्गत गिलोय की जागरूकता एवं निःशुल्क पौध वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम में राज्य के कृषि मंत्री सुबोध उनियाल एवं सुनील उनियाल गामा,मेयर, नगर निगम की उपस्थिति रही। मंत्री द्वारा राज्य औषधीय पादप बोर्ड, उत्तराखंड के गिलोय को बढ़ावा दिये जाने के अभियान की सराहना की गई । द्वारा नगर निगम क्षेत्र पाष्दों के माध्यम से देहरादून शहर के घर-घर में गिलोय की पौध लगाने एवं इसका उपयोग कर अपनी इम्यूनिटी बढ़ाकर कई बीमारियों से सुरक्षित रहने का आह्वान किया गया। इस अवसर पर अवगत कराया गया कि विगत 7 वर्षों से वे स्वय गिलोय का उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीमार होने का कारण रोग-प्रतिरोधक क्षमता का कम होना है, जिस कारण कई वायरस हमारे शरीर को नुकसान पहुंचाते हैं। अतः इससे बचने के लिये गिलोय का उपयोग नियमित रूप से करना चाहिये।
कृषि मंत्री ने बताया कि ग्रामीणों की जागरूकता के कारण गांव-देहात कोविड के संक्रमण से बचे हुये है, जबकि शहरी क्षेत्र में काफी कोरोना फैल रहा है। उन्होंने बताया कि गिलोय में विभिन्न बीमारियों को ठीक करने की क्षमता के कारण तथोनाम यथा गुण के आधार पर इसे अमृताष् भी कहा जाता है। राज्य औषधीय पादप बोर्ड द्वारा अभियान के अन्तर्गत उत्तराखण्ड में गिलोय की पौध स्थानीय लोगों को कोरोना एवं अन्य बीमारियों में रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने हेतु दो लाख गिलोय की पौध फ्री वितरित की जा रही है। मा0 मंत्री द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित मा० पार्षद सदस्यों को गिलोय एवं तुलसी की पौध के साथ सम्बन्धित प्रचार-प्रसार सामग्री भी वितरित की गई।

मेयर, नगर निगम, देहरादून द्वारा भी नगर निगम देहरादून क्षेत्र के पार्षदों का आह्वान किया कि गिलोय के पौधों का वितरण समस्त नगरीय क्षेत्रों में किया जाय, जिससे अधिक से अधिक लोग इन पौधों का उपयोग कर कोविड-19 महामारी एवं डेंगू जैसी बीमारियों से सुरक्षित रह सके। नगर निगम क्षेत्र में मा० पार्षद सदस्यों के माध्यम से 50 हजार गिलोय एवं 50 हजार तुलसी की पौध वितरित की जा रही है उन्होंने बताया कि मा0 पार्षद सदस्य अपने क्षेत्रों में गिलोय की पौध वितरण करने हेतु राज्य औषधीय पादप बोर्ड उत्तराखंड के फोन-0135-2769918 एवं सगन्ध पौधा केन्द्र, सेलाकुई के फोन न. 0135-2698305 से सम्पर्क कर अपनी आवश्यकतानुसार पौधों की मांग कर सकते हैं।

डा0 नृपेन्द्र चैहान, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राज्य औषधीय पादप बोर्ड उत्तराखण्ड, देहरादून द्वारा गिलोय को बढ़ावा दिये जाने हेतु राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड, नई दिल्ली द्वारा वित्तपोषित “National Campaign on Tinospora cordifolia&Amrita for life” अभियान का संचालन उत्तराखण्ड में भी किया जा रहा है। डॉ चोहान ने बताया कि गिलोय शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाकर हमे कई बीमारियों से बचाती है। इसकी बेल गमलों अथवा पेड़ के सहारे आसानी से उगायी जा सकती है।
कार्यक्रम का संचालन डॉ सुनील साह, वरिष्ठ वैज्ञानिक, सगन्ध पौधा केन्द्र, सेलाकुई द्वारा किया गया, कार्यक्रम में डॉ हेमा लोहनी, निदेशक, सगन्ध पौधा केन्द्र, सेलाकुई, देहरादून, नरेन्द्र सिंह बिष्ट, कन्सलटेन्ट औषधीय पादप, राज्य औषधीय पादप बोर्ड उत्तराखंड,अंकित नेगी एवं नगर।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top