Home / Featured / उत्तराखण्ड कांग्रेस ने किया दिल्ली पार्टी मुख्यालय में थीम सांग जारी
उत्तराखण्ड कांग्रेस ने किया दिल्ली पार्टी मुख्यालय में थीम सांग जारी

उत्तराखण्ड कांग्रेस ने किया दिल्ली पार्टी मुख्यालय में थीम सांग जारी

देहरादून/दिल्ली

देश की राजधानी दिल्ली के कांग्रेस मुख्यालय में उत्तराखंड कांग्रेस ने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर थीम सौंग लॉंच किया।

इस मौके पर कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र रावत, पूर्व सीएम हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल मौजूद थे। थीम सौंग जारी होने के दौरान तकनीकी खराबी आ गई और करीब चार मिनट तक आवाज संबंधी गड़बड़ी रही। इस दौरान उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने प्रदेश की भाजपा सरकार पर जोरदार हमले किए।

प्रेस वार्ता में हरीश रावत ने कहा कि ये गीत परिवर्तन का आह्वान करता है। परिवर्तन सत्ता के लिए नहीं, बल्कि लोकतंत्र के लिए चाहते हैं। जिस प्रकार विकास की अवधारणा ध्वस्त हुई उससे उत्तराखंड सर्वाधिक पीड़ित है। केंद्र सरकार ने भी उसे माना है।

इसीलिए तीन तीन सीएम बदले गए हैं। एक सीएम विधानसभा सत्र के बजट को पारित कर रहे थे, उन्हें हटा दिया गया। जो पार्लियामेंट्री परंपराओं का अपमान है। उत्तराखंड की जनता को बताया ही नहीं कि सीएम क्यों बदला गया।

उन्होंने कहा कि पहले भी परिवर्तन हुए तो स्पष्ट बताया गया कि 2013 में आपदा के बाद जब उत्तराखंड में कांग्रेस ने सीएम बदला तो बताया गया कि आपदा के बाद सही से हैंडिल नहीं कर पाए। दूसरे सीएम को क्यों बदला, ये राज है। शायद देश के भीतर दो लोग जानते हैं नरेंद्र मोदी और अमित शाह। जिसे बदला गया वो समझ नहीं पाए, कब सधवा हुए कब विधवा। कब शादी हुई और कब विधवा किया गया।

तीसरे सीएम की भी तैयारी हो गई थी। कांग्रेस के डर से तीसरा व्यक्ति डर गया। उत्तराखंड बार बार अपमानित कर रहा है।हरीश रावत ने कहा कि ये छोटा सा राज्य उत्तराखंड है। कोरोना संक्रमण के लिहाज से देश के भीतर मृत्यु दर सर्वाधिक उत्तराखंड में है। हरिद्वार कुंभ में रही सही कसर पूरी कर दी। उस दौरान भाजपा ने टेस्टिंग घोटाला कर जहर घोल दिया। महंगाई के लिहाज से उत्तराखंड में सबसे ज्यादा दर है। महंगाई को भाजपा ने शिष्टाचार बना दिया है। हमारा थीम सौंग इन बातों को दर्शाता है। ये बताता है कि हम क्या करेंगे। आज राज्य के सारे मूल कुचल कुचल कर नष्ट किए जा रहे हैं। हमारी पहचान को ध्वस्त किया जा रहा है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top