Home / Featured / उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने 26 से 28 फरवरी तक कोलकाता में तीन दिवसीय ट्रेवल एंड टूरिज्म फेयर-2021में लिया हिस्सा
उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने 26 से 28 फरवरी तक कोलकाता में तीन दिवसीय ट्रेवल एंड टूरिज्म फेयर-2021में लिया हिस्सा

उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने 26 से 28 फरवरी तक कोलकाता में तीन दिवसीय ट्रेवल एंड टूरिज्म फेयर-2021में लिया हिस्सा

देहरादून

 

उत्तराखंड पर्यटन विभाग ने 26 से 28 फरवरी तक कोलकाता में आयोजित हुए तीन दिवसीय ट्रेवल एंड टूरिज्म फेयर-2021में प्रतिभाग किया।

आयोजन के दौरान पश्चिम बंगाल उत्तर-पूर्व के राज्यों नागालैंड आसाम मेघालय तथा अंडमान निकोबार आदि राज्यों के प्रमुख ट्रैवल एजेंट एवं टूर ऑपरेटर्स के साथ नेटवर्किंग के अलावा बंगाल के लोगों को आगामी चार धाम यात्रा तथा ग्रीष्मकालीन पर्यटन हेतु आमंत्रित करना इस आयोजन का प्रमुख उद्देश्य रहा।

 

सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर ने बताया कि राज्य सरकार  कोरोना काल के पश्चात राज्य के पर्यटन उद्योग के पुनरुत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। इसी क्रम में विभाग पर्यटन विभाग द्वारा देशभर में आयोजित होने वाले प्रमुख ट्रैवलमार्ट एवं प्रदर्शनों में प्रतिभाग किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार द्वारा राज्य के पर्यटन क्षेत्र के स्टेकहोल्डर्स के साथ इन आयोजनों में भाग लिया जाता है जिसमें वह दूसरे राज्यों की ट्रैवल एजेंट एवं टूर ऑपरेटर के बीच अपने व्यवसाय का भरपूर प्रचार प्रसार करते हैं।

 

इस आयोजन में  उत्तराखंड का प्रतिनिधित्व जनसंपर्क अधिकारी कमल किशोर जोशी ने किया। उनके अनुसार उत्तराखंड, बंगाल के पर्यटकों के लिए एक अत्यंत प्रिय गंतव्य है। कोविड काल के बाद उत्तराखंड आने के लिए बंगाल के लोगों में काफी उत्साह देखने को मिला है। अगर हम चार धाम यात्रा में बंगाल के पर्यटकों को आमंत्रित करने में सफल होते हैं तो इससे चारधाम यात्रा मार्ग पर निवास करने वाले लोगों को रोजगार मिलेगा, होटल व्यवसाय पुनर्स्थापित हो सकेगा और राज्य के पर्यटन व्यवसायियों की आमदनी में वृद्धि होगी।

 

समापन समारोह के दौरान बंगाल के लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मां गंगा, मां दुर्गा, चार धाम, गुरुदेव रवींद्रनाथ टैगोर और स्वामी विवेकानंद,बंगाल और उत्तराखंड के मध्य एक अटूट रिश्ता स्थापित करते हैं।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top