Breaking News
Home / Featured / उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसायटी आयोजित करेगी वर्चुअल कॉन्फ्रेंस…नेहा जोशी
उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसायटी आयोजित करेगी वर्चुअल कॉन्फ्रेंस…नेहा जोशी

उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसायटी आयोजित करेगी वर्चुअल कॉन्फ्रेंस…नेहा जोशी

उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम की वर्चुअल कॉन्फ्रेंस से जुड़ेंगे विभिन्न क्षेत्रों के अग्रणी व्यक्तित्व।

उत्तराखंड के पुनरुत्थान पर चिंता और चिंतन के लिए देश विदेश के विभिन्न क्षेत्रों के अग्रणी व्यक्तित्व आगामी 25-26 जुलाई को वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़ेंगे
उत्तराखंड यंग थिंकर्स फोरम एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक्शन एंड रिसर्च सोसायटी के संयुक्त प्रयास से आयोजित की जाने वाली इस वर्चुअल कॉन्फ्रेंस के बारे में बताते हुए संयोजक नेहा जोशी ने कहा कि उत्तराखंड के पुनरुत्थान इसकी समस्याओं व समाधान पर विचार करने के लिए राम माधव राष्ट्रीय महासचिव भाजपा,श्रीमती अन्नपूर्णा नौटियाल उपकुलपति हेमवती नंदन गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीमती श्वेता रावत को फाउंडर हंस फाउंडेशन, वर्तिका जोशी लेफ्टिनेंट कमांडर भारतीय नौसेना,मंगेश घिल्डियाल आईएएस अधिकारी, शौर्य डोभाल सदस्य बोर्ड ऑफ गवर्नर्स इंडिया,फाउंडेशन जयराज प्रिंसिपल चीफ कंजरवेटर फॉरेस्ट,भूपेंद्र कैंथोलानिदेशक एफटीआईआई पुणे,मनजीत नेगी डिप्टी एडिटर आज तक दीपक रमोला फाउंडर प्रोजेक्ट फ्यूल का मार्गदर्शन इस वर्चुअल कॉन्फ्रेंस को मिलेगा।
उत्तराखंड यंग थिंकर्स फॉर्म की नवगठित टीम में अखिलेश प्रताप सिंह सदस्य फॉरेस्ट मैनेजमेंट बोर्ड सामाजिक कार्यकर्ता आकांक्षा जोशी, अभिनव रावत ,समीर उनियाल, रमेश जोशी ,उद्यमी कृतार्थ उनियाल अर्चित डाबर, वैभव उनियाल ,अखिलेश रावत, शिक्षा क्षेत्र से आशीष जैन ,आशुतोष त्रिपाठी यूपीईएस प्रोफेसर्स,आईएएस अकैडमी ओरेकल से पवन पांडे, हेमंत भट्ट, लोकल सेल्फ गवर्नमेंट से मानवेंद्र चौधरी जीवन ठाकुर ,कला क्षेत्र से पार्थ जोशी ,जतिन नेगी, तुषार कौशिक
उत्तराखंड काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी से प्रोजेक्ट साइंटिस्ट सिद्धांत उनियाल जैसे युवा शामिल है।
रजिस्ट्रेशन द्वारा शामिल होने वाली इस वर्चुअल कॉन्फ्रेंस में युवाओं को ना सिर्फ समाज के अग्रणी व्यक्तित्व के विचार जानने को मिलेंगे वरन संवाद का अवसर भी मिलेगा।
संयोजक नेहा जोशी के अनुसार इस संवाद द्वारा युवाओं को अपनी जड़ों की और लौटाने और उत्तराखंड को आगे बढ़ाने हेतु स्वैच्छिक सहभागिता हेतु प्रेरित किया जाएगा।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top