Home / Featured / विदेशी करेंसी नोट बदलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय के दो मेम्बर अरेस्ट किये दून पुलिस ने
विदेशी करेंसी नोट बदलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय के दो मेम्बर अरेस्ट किये दून पुलिस ने

विदेशी करेंसी नोट बदलकर ठगी करने वाले अंतरराज्यीय के दो मेम्बर अरेस्ट किये दून पुलिस ने

देहरादून

कोतवाली पटेलनगर पुलिस को मिली बडी सफलता, विदेशी करेंसी नोट बदलकर ठगी करने वाले अंतरार्ज्यीय गिरोह के दो सदस्यों ( एक महिला एक पुरुष) को पुलिस ने किया गिरफ्तार, प्रेमनगर मे घटना को दे चुके थे अंजाम, सऊदी अरब की करेंसी रियाल को भारतीय नोट मे बदलने का लालच देकर करते थे ठगी,इसी प्रकार दिल्ली एनसीआर मे 10 व मुम्बई मे 15 घटना को दे चुके थे अंजाम, अभियुक्त गणो के कब्जे से 108000/- रु0 (एक लाख आठ हजार रुपये), विभिन्न मोबाईल कम्पनी के 42 सिम, विभिन्न कम्पनी के 14 की पैड मोबाईल फोन,सऊदी अरब की करेंसी रियाल के 05 नोट किये बरामद।

दिनांक 25 दिसम्बर को तिलकराम पुत्र मुल्लासिंह निवासी 7 करनपुर, थाना डालनवाला जनपद देहरादून द्वारा थाना पटेलनगर आकर एक प्रार्थनापत्र दिया कि दिनांक 17 दिसम्बर को एक महिला करनपुर स्थित उनकी पार्लर की दुकान मे आई, जिसने अपने पास सऊदी अरब देश की करेंसी रियाल के 50-50 रुपये के 1600 नोट होना बताया व अपने घर की खराब स्थिति का रोना रो लकर उन्हे बदलने की मिन्नत की, जिसकी बातो मे आकर मैने अपनी पत्नी के गहने गिरवी रख करेंसी के बदले तीन लाख रुपये महिला के बतायेनुसार ब्रहमपुरी आकर उक्त महिला व उसके साथ आये एक व्यक्ति को दे दिये, जिसके बदले मे उस महिला व उसके साथ के व्यक्ति द्वारा उसके साथ ठगी कर उसको धोखे से अखबार की रद्दी देकर दोनों भाग गये।

प्रार्थना पत्र के आधार पर थाना पटेलनगर पर मामला पंजीकृत किया गया। तफ्तीश उ.नि. किशन देवरानी के सुपुर्द की गयी।

मामले की गम्भीरता को देखते हुये पुलिस उपमहानिरीक्षक / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद देहरादून जनमेजय खण्डूरी द्वारा घटना का तत्काल अनावरण करने हेतु निर्देशित किया गया।

इस क्रम मे पुलिस अधीक्षक नगर श्रीमती सरिता डोबाल एवं क्षेत्राधिकारी सदर नरेन्द्र पन्त के पर्यवेक्षण मे प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पटेलनगर रविन्द्र सिह यादव के नेतृत्व मे अगल-अलग तीन टीमे गठित की गई।

पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी फुटेज के बारे मे जानकारी कर आने जाने वाले मार्गों पर लगे लगभग 108 कैमरो को चैक किया गया। इसके अलावा अभियुक्तों द्वारा घटना मे प्रयुक्त किये गये मोबाइल फोन की लोकेशन सीडीआर, आईडी प्राप्त करते हुए अभियुक्त गणो द्वारा प्रयोग किये जा रहे फोनो के IMEI नम्बरो को रन कर प्रयुक्त किये गये मोबाईल फोन पर लगे आईडी का पश्चिम बंगाल का होना पाया गया।

लगातार अभियुक्त गणो का घटना स्थल पर आने व जाने वाले मार्गो पर लगे सीसीटीवी फुटेजो को लगातार चैक किया गया, जिसके परिणाम स्वरुप पुलिस टीम को जानकारी मिली कि एक महिला व एक पुरुष उसी हुलिया के पटेलनगर क्षेत्र मे दिखायी दिये है, जिस पर पुलिस टीम द्वारा घेरा बन्दी कर पटेलनगर क्षेत्रान्तर्गत ब्रहमपुरी मे दोनों महिला व पुरुष की तलाश करने पर ब्रहमपुरी से एक महिला रिपा व एक पुरुष जब्बार को गिरफ्तार किया गया, दोनो के कब्जे से ब्रहमपुरी मे दिनांक 23 दिसम्बर को की गई घटना मे प्रयुक्त दो की पैड फोन व दो स्मार्ट मोबाईल फोन तथा ठगी करने के लिए लाए गये साऊदी अरब की करेंसी रियाल 50-50 रुपये के 5 नोट बरामद किये गये।

दोनो अभियुक्तगणो द्वारा ब्रहमपुरी मे दिनांक 23 दिसम्बर को की गई ठगी के अतिरिक्त प्रेमनगर मे 21 दिसम्बर को की गई घटना को अपने अन्य साथियो की सहायता से किया जाना स्वीकार किया गया।

दोनो की निशानदेही पर उनके किराये के मकान खुडबुडा से घटना मे ठगी कर लिये गये एक लाख रुपये, विभिन्न घटनाओ मे प्रयोग किये गये 12 मोबाइल फोन, विभिन्न मोबाइल कम्पनियों के 28 सिम कार्ड तथा दिनांक 21 दिसम्बर को थाना प्रेमनगर में की गई ठगी की घटना से सम्बन्धित आठ हजार रुपये बरामद किये गये।

पूछताछ में अभियुक्तों ने बताया ग कि हमारा गिरोह मूल रूप से पश्चिम बंगाल के रहने वाला हैं तथा वर्तमान में हम दिल्ली में रह रहे हैं। हम दोनों गिरोह के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर विदेशी करेंसी सऊदी अरब के नोट रियाल को बदलने को लेकर लोगों को लालच देकर ठगी करते हैं, इसके लिए हम गिरोह के महिला सदस्य को सऊदी अरब की करेंसी रियाल के पचास रूपये का नोट, जिसकी भारतीय रूपये में कीमत लगभग 950 रूपये है, को लेकर विभिन्न दुकानो व घरों में भेजते हैं, जिसमें गिरोह की महिला सदस्य दुकानदार या घर के सदस्य को एक झूठी कहानी सुनाते हैं कि उसके मालिक विदेश में नौकरी करते हैं, जिनके द्वारा उन्हे बिस्तर व पुराने कपडे दिये थे, जिनके अन्दर उन्हे सऊदी अरब की करेंसी रियाल के काफी संख्या में नोट मिले हैं, जिन्हें घर की परिस्थिति व घर के किसी सदस्य की बीमारी का हवाला देकर बदलने की मिन्नत करते हैं। टारगेट को अपने प्रति दया भावना को दिखाकर करेंसी नोट के बदले आधी कीमत से कम में भारतीय रूपये देने के लिये राजी करते हैं। टारगेट को एक सऊदी अरब का पचास रूपये का रियाल का नोट देकर उसे बदलने व संतुष्ट होने को कहते हैं तथा टारगेट का मो0न0 प्राप्त कर लेते हैं। हम इस काम के लिये अलग-अलग मोबाइल फोन व अलग-अलग मोबाइल सिम का प्रयोग करते हैं तथा गिरोह के सदस्य आपस मे बातचीत करने के लिये अलग स्मार्ट फोन का प्रयोग करते हैं, गिरोह के सदस्य आपस में आईएमओ एप्प से ज्यादा बाते करते हैं। टारगेट से बातचीत करने के बाद दूसरे दिन टारगेट से फर्जी मो0न0 से सम्पर्क कर अपने पास कई सऊदी अरब के नोट होने का विश्वास दिलाकर बदलने को कहते हैं, जिस पर टारगेट को दिये गये असली नोट को उसके द्वारा भारतीय नोट में बदलने पर विश्वास होने के कारण वह हमारी बातों पर विश्वास कर लेता है और हमारा टारगेट के बीच करेंसी नोट को बदलने व उसके एवज में भारतीय नोट को लेकर एक कीमत तय की जाती है, जिसके पश्चात टारगेट से भारतीय नोट लेने के लिये टारगेट के पास गिरोह के दूसरे सदस्यों को भेजा जाता है। टारगेट को अपनी पसंद की जगह पर बुलाया जाता है, जहां टारगेट को पुराने अखबार की रद्दी की गड्डी बनाकर उसे बैग में रखकर दिया जाता है और उसे बातों में उलझाकर उससे भारतीय नोट प्राप्त कर वहां से भाग जाते हैं। हम जहां टारगेट को बुलाते हैं, उस स्थान की पहले से ही रैकी कर लेते हैं, जिससे नोट बदलने के बाद भागने में आसानी हो तथा घटना में प्रयोग किये गये मोबाइल फोन को बन्द कर देते हैं। हम पुलिस से बचने के लिये गिरोह के अन्य सदस्यो का प्रयोग टारगेट पर नजर रखने के लिए करते हैं। जब टारगेट पैसें लेकर आता है तो गिरोह के अन्य सदस्य उसकी हरकतों व उसके साथ आने जाने व्यक्तियो पर दूर नजर रखता है, हमने इसी प्रकार कई स्थानों पर घटना को अन्जाम दिया है।

गिरफ्तार किए गए जब्बार पुत्र अंजल निवासी पश्चिम बंगाल हाल जे-3/125, जे-3 जे एक्सटेंशन किशनकुंज लक्ष्मीनगर पूर्वी दिल्ली, उम्र 36 वर्ष और रिपा पत्नी रफी निवासी 302 कबीर बस्ती रोशनवाला गली उत्तरी दिल्ली, उम्र 25 वर्ष।

अभियुक्तों से

1- 108000/- रु0 (एक लाख आठ हजार रुपये),

2- 14 मोबाईल फ़ोन विभिन्न कंपनी के

3- विभिन्न कंपनी के 42 सिम,

4- वादी का ग्रे रंग का बैग

5- विभिन्न कम्पनी के 14 की पैड मोबाईल फोन,

6- ओपो स्मार्ट मोबाईल फोन -02

7- सऊदी अरब की करेंसी रियाल के 05 नोट बरामद किए गए।

जिसमे थाना प्रेमनगर से सम्बन्धित 8000/- रुपये (आठ हजार रुपये भी थे।

बताया गया कि अभियुक्तगणो का आपराधिक इतिहास में

1- मु0अ0सं0-297/2021 धारा 420 भादवि थाना प्रेमनगर जनपद देहरादून ।

2- मु0अ0सं0 683/2021 धारा 420 भादवि थाना पटेलनगर जनपद देहरादून ।

*(नोट- अभियुक्त गणो के अन्य आपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है।

इस खुलासे में मार्गदर्शन/ निर्देशन में सरिता डोबाल, पुलिस अधीक्षक नगर,नरेन्द्र पन्त, क्षेत्राधिकारी सदर जनपद देहरादून एवम पुलिस टीम में रविन्द्र सिह यादव प्रभारी निरीक्षक कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून ,कुन्दन राम (व0उ0नि0 कोतवाली पटेलनगर) जनपद देहरादून, विवेक कुमार राठी (चौकी प्रभारी बाजार चौकी) कोतवाली पटेलनगर देहरादून,उ0नि0 योगेश दत्त कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून,कानि0 1079 बृजमोहन सिह रावत कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून,कानि0 565 राजीव कुमार कोतवाली पटेलनगर जनपद देहरादून,कानि0 370 श्रीकान्त ध्यानी कोतवाली पटेलनगर देहरादून,कानि0 613 आशीष नेगी कोतवाली पटेलनगर देहरादून थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top