Home / Featured / 2,26,466 कार्रवाइयों में 373.12 लाख का जुर्माना वसूला , 4,49,116 मास्क वितरित किये…अशोक कुमार
2,26,466 कार्रवाइयों में 373.12 लाख का जुर्माना वसूला , 4,49,116 मास्क वितरित किये…अशोक कुमार

2,26,466 कार्रवाइयों में 373.12 लाख का जुर्माना वसूला , 4,49,116 मास्क वितरित किये…अशोक कुमार

देहरादून

डीजीपी अशोक कुमार ने पुलिस मुख्यालय में कोविड संक्रमण के दृष्टिगत पुलिस द्वारा किये जा रहे कार्यों के संदर्भ में मीडिया को संबोधित किया ।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 की दूसरी लहर के दौरान उत्तराखंड पुलिस द्वारा कोविड-19 के संक्रमण को रोकने को लेकर विभिन्न कार्यवाहियां की गई, जिनमे मास्क न पहनने को लेकर 1,13,977 चालान, सोशल डिस्टैसिंग एवं अन्य कोरोना संक्रमण के नियमों के उल्लंघन को लेकर 1,05,763 उत्तराखंड पुलिस एक्ट की धारा 81/82 के दौरान 6352 कार्यवाहियां तथा डी0एम0 एक्ट/एम0एस0 एक्ट आईपीसी के अंतर्गत 268 मुकदमो में 374 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गयी। इस प्रकार कुल 2,26,466 कार्रवाइयों में 373.12 लाख का जुर्माना वसूला गया। इस दौरान पुलिस द्वारा 4,49,116 मास्क वितरित किये गए।

कोविड-19 महामारी के दौरान कालाबाजारी रोकने के लिए उत्तराखंड पुलिस द्वारा जनपदों की 158 टीमें तथा एसटीएफ की 10 टीमें लगाई गई है, जिनके द्वारा कालाबाजारी रोकने के लिए लगातार दबिश दी जा रही है अब तक सभी टीमों द्वारा 787 दविश दी गयी।

रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी में जनपद हरिद्वार में एक मुकदमा दर्ज किया गया जिसमें दो लोगों के विरुद्ध कार्रवाई की गयी जबकि नकली रेमडेसीविर की कालाबाजारी में जनपद हरिद्वार में एक मुकदमे में एक अभियुक्त के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए चार बरामदगियां की गयी।

ऑक्सीजन की कालाबाजारी के दौरान पुलिस द्वारा तीन अभियोग पंजीकृत किए गए जिसमें 09 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 91 बरामदगियां की गयी।

कोविड-19 महामारी के दौरान अन्य कालाबाजारियों में तय राशि से अधिक मूल्य पर विभिन्न मेडिकल उपकरणों को बेचने तथा अन्य दवाइयों की कालाबाजारी के दौरान राज्य में कुल 7 मुकदमे दर्ज किए गए जिनमें 10 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 11 बरामदगियां की गई, इस प्रकार कोविड-19 महामारी के दौरान राज्य में कालाबाजारी को लेकर कुल 15 मुकदमे 25 लोगों के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए 110 बरामदगी की गई।

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि उत्तराखंड के सभी जनपदों, वाहनियों में कंट्रोलरूम स्थापित किए गए हैं जिनके द्वारा महामारी के दौरान लोगों को सहायता प्रदान की जा रही है।

इस दौरान पुलिस द्वारा 392 लोगों को राशन/भोजन (पका हुआ) वितरित किया गया जबकि 2898 लोगों को दवाइयाँ, 1579 लोगों को दूध अथवा आवश्यक सेवा, 322 लोगों को ऑक्सिजन दिलाने, 172 लोगों को अस्पतालों में बेड सुविधा प्रदान करने तथा लगभग 100 लोगो को प्लाज्मा डोनेट करने अथवा उपलब्ध कराने में सहायता प्रदान की गई। कोविड-19 महामारी के दौरान कोविड-19 से मृत 159 व्यक्तियों का दाह संस्कार पुलिस द्वारा संपादित किया गया।

कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के दृष्टिगत उत्तराखंड पुलिस द्वारा राज्य की सीमाओं, जनपद की सीमाओं, जनपद के अंदर के बैरियर पॉइंट्स, कर्फ्यू पॉइंट्स, आइसोलेशन, क्वारन्टीन सेंटर, कोविड अस्पताल, श्मशान घाट, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, वैक्सीनेशन सेंटर्स, मेडिकल स्टोर्स, ऑक्सीजन प्लांट एवं अन्य स्थानों में कुल 1878 स्थानों पर कुल 7866 नागरिक पुलिस, 24 कम्पनी पीएसी के अतिरिक्त एस0डी0आर0एफ0 की 31 यूनिटों को तैनात किया गया है।

सभी 13 जनपदों के कोविड-19 कंट्रोलरूमों में 91 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है जिनके द्वारा अब तक 4964 कॉल अटेंड कर सभी का निस्तारण किया गया।

बताया कि कोविड-19 महामारी के दौरान उत्तराखंड पुलिस के कुल 18282 कोविड टेस्ट किये गएतथा 1981 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए जिनमे से 08 पुलिसकर्मियों की मृत्यु हुई। कोविड-19 की द्वितीय लहर में उत्तराखंड पुलिस के लगभग 1454 संक्रमित हुए इस दौरान 7003 टेस्ट किये गए, कोविड-19 की द्वितीय लहर में 02 पुलिसकर्मियों की मृत्यु भी हुई इन पुलिस कर्मियों को स्वास्थ्य कारणों से कोरोना वैक्सीन नही लगी थी।

उत्तराखंड पुलिस के 25,094 पुलिसकर्मियों में से 24,163 पुलिसकर्मियों को कोविड-19 की वैक्सीन की प्रथम डोज जबकि 23,705 लोगों कोकोविड-19 की दूसरी डोज भी लग चुकी है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top