फ़िल्म स्टार ऋषि कपूर ने इस दुनिया से ली अलविदा

/center>

देहरादून/मुंबई

दो दिन में दो दिग्गज फ़िल्म कलाकारो ने इस दुनिया से अलविदा कह दी और कारण सिर्फ एक कैंसर अभी इरफान खान के दर्द को लोग सोच ही रहे कि ऋषि कपूर की खबर आ गयी दोनों कलाकारों ने हालांकि इससे लड़ने को खूब लड़ाई लड़ी। पूरी फिल्म इंडस्ट्री ओर उनके लाखो लाख प्रशंसक स्तब्ध हो गये है।
आज दो साल तक कैंसर से लड़ाई लड़ने के बाद बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर का भी निधन हो गया । बॉलीवुड अभिनेता ऋषि कपूर का मुंबई में मरीन लाइंस के चंदनवाड़ी श्मशान घाट पर विधि विधान के साथ अंतिम संस्कार कर दिया गया।
लॉकडाउन के चलते ऋषि कपूर की अंतिम यात्रा में परिवार के चंद लोग ही शामिल हो पाये।कपूर परिवार ऋषि कपूर जिनको लोग चिंटू भी कहते थे का पार्थिव शरीर घर की जगह सीधे चंदनवाड़ी श्मशान घाट गया। इनको सांस लेने में तकलीफ होने के बाद बुधवार को मुंबई के एच एन रिलायंस अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली।
ऋषि कपूर के निधन की जानकारी अमिताभ बच्चन ने ट्वीट पर दी थी। कपूर परिवार ने भी स्टेटमेंट जारी कर लिखा था, हमारे प्यारे ऋषि कपूर (चिंटू)आज सुबह 8.45 पर इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए। डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ का कहना है कि अस्पताल में भी वह सभी को एंटरटेन करते रहते थे। वो बीमारी से लड़ते हुए भी खुश रहा रहते थे। सिर्फ परिवार, दोस्त, खाना और फिल्मों पर ही उनकी ज्यादा बाते होती थीं। उनसे मिलने वाले ये देखकर चौंक जाते थे कि कैसे ऋषि ने बीमारी में भी कभी निराशा को पास नहीं आने दिया।’
4 सितम्बर 1952 में जन्मे  ऋषि कपूर हिंदी फ़िल्मो के अभिनेता, फ़िल्म निर्माता और निर्देशक भी थे। उन्हें डिम्पल कपाड़िया के साथ अभिनीत फिल्म बॉबी हेतु 1974 में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार और साथ ही 2008 में फ़िल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार सहित अन्य पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चूका है। उनको पहली फ़िल्म मेरा नाम जोकर में बाल कलाकार के रूप में शानदार भूमिका के लिए 1970 में राष्ट्रीय फ़िल्म पुरस्कार मिल चुका है।उन्होंने 1973 और 2000 के बीच 92 फिल्मों में रोमांटिक लीड के रूप में प्रमुख भूमिकाएँ निभाईं। दो दूनी चार में उनके प्रदर्शन के लिए, उन्हें 2011 का सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फिल्मफेयर क्रिटिक्स पुरस्कार दिया गया, और फ़िल्म कपूर एण्ड सन्स में अपनी भूमिका के लिए, उन्होंने 2017 का सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेता के लिए फिल्मफेयर पुरस्कार जीता। उन्हें 2008 में फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित भी किया गया। ऋषि 1973 से 1981 के बीच बारह फिल्मों में अपनी पत्नी नीतू सिंह (1980 में शादी) के साथ दिखाई दिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published.