बधाई …नीर वाटर फॉल का होगा 60 लाख से सौंदर्यकरण और अब इसका नया नाम होगा सेवन सिस्टर्स – Latest News Today, Breaking News, Uttarakhand News in Hindi

बधाई …नीर वाटर फॉल का होगा 60 लाख से सौंदर्यकरण और अब इसका नया नाम होगा सेवन सिस्टर्स

देहरादून/ऋषिकेश

शिवपुरी में नीर वाटर फॉल का सौंदर्यीकरण और सुव्यवस्थित किया जाएगा साथ ही अब नीर वाटर फॉल को सेवन सिस्टर्स के नाम से जाना जाएगा,यहाँ पर्यटक काफी संख्या में पहुँचते हैं. और वाटर फॉल का आनन्द लेते हैं वन विभाग ने इसके सौंदर्यीकरण के लिए डीपीआर तैयार कर ली है। जिससे शासन से अनुमोदन भी मिल गया है। इसी वित्तीय वर्ष से सौंदर्यीकरण कार्य शुरू हो जाएगा।

ऋषिकेश शहर से करीब 15 किमी दूर शिवपुरी के समीप प्रसिद्ध पर्यटक स्थल नीर वाटर फाल और भी अधिक सुंदर नजर आएगा। वन विभाग ने तीन करोड़ 60 लाख रुपये की लागत से होने वाले सौंदर्यीकरण कार्यों की डीपीआर तैयार की है। यहां करीब एक किमी के दायरे में ताल हैं। जिनके नाम पर अब नीर वाटर फॉल को सेवन सिस्टर किया जा रहा है।

सौंदर्यीकरण के तहत यहां प्रवेश द्वार, रास्ते व रेलिंग आदि का निर्माण किया जाएगा। कुछ फैब्रिकेटेड दुकानें भी बनाई जाएंगी। यहां विकसित हो रहे भू स्खलन क्षेत्र का भी ट्रीटमेंट किया जाएगा। क्षेत्र में छोटे-छोटे पुल भी बनाए जाएंगे। वन विभाग नरेंद्र नगर के अधिकारियों ने बताया कि इस पूरे क्षेत्र में सफाई व्यवस्था बनाए रखने के लिए कूड़ा निस्तारण प्लांट लगाए जाने की योजना भी है। सुरक्षा की दृष्टि से यहां सीसीटीवी कैमरे भी लगाए जाएंगे। 10 टॉयलेट और सात चेंजिंग रूम, सोलर स्ट्रीट लाइट, बेंच, सेल्फी प्वाइंट आदि का निर्माण किया जाएगा।

वन विभाग को नीर वाटर फाल से प्रतिवर्ष करीब 10 से 15 लाख का राजस्व होता है। यहां आम लोगों के लिए 20 रुपये व विदेशियों के लिए 40 रुपये प्रवेश शुल्क रखा गया है। इस क्षेत्र की जिम्मेदारी इको डेवलेपमेंट कमेटी को दी गई है। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि प्रवेश शुल्क बढ़ाए जाने को लेकर कमेटी से बात की जाएगी।

वन विभाग नरेंद्र नगर के डीएफओ अमित कंवर ने बताया कि नरेंद्र नगर मोटर मार्ग पर आगरा खाल के समीप विमुंडा वाटर फाल का भी सौंदर्यीकरण किया जाएगा।

इसके लिए योजना तैयार की जा रही है। सौंदर्यीकरण कर से सुंदर व सुविधायुक्त बनाया जाएगा।नीर वाटर फाल के सौंदर्यीकरण की डीपीआर का अनुमोदन हो चुका है। तीन करोड़ 60 लाख की लागत से सौंदर्यीकरण कार्य किए जाने हैं। इसी वित्तीय वर्ष से कार्य शुरू कर दिए जाएंगे। -अमित कंवर, डीएफओ नरेंद्रनगर वन प्रभागI

Leave a Reply

Your email address will not be published.