डीएम मेहरबान बिष्ट ने कांवड़ यात्रा को लेकर कांवड़ियों की सुविधा व सहायता हेतु सभी संबंधित विभागों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश – Latest News Today, Breaking News, Uttarakhand News in Hindi

डीएम मेहरबान बिष्ट ने कांवड़ यात्रा को लेकर कांवड़ियों की सुविधा व सहायता हेतु सभी संबंधित विभागों को दिए आवश्यक दिशा निर्देश

देहरादून/उत्तरकाशी

जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने आसन्न कांवड़ यात्रा को सुव्यवस्थित, सुरक्षित व शांतिपूर्वक तरीके से संचालित करने और कांवड़ियों की सुविधा व सहायता के लिए सभी संबंधित विभागों को आवश्यक इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि गंगोत्री-गोमुख मार्ग पर पिछले दिनों नालों में जल स्तर बढने से तीन पुलिया बह जाने के कारण आवागमन को सुरक्षित बनाए रखने की चुनौती से निपटने के लिए यथाशीघ्र नई पुलियाओं का निर्माण कराया जाय। इसके लिए गंगोत्री नेशनल पार्क प्रशासन विशेषज्ञ विभागों का परामर्श लेकर कार्रवाई सुनिश्चित करेगा।

जिले में कांवड़ यात्रा की तैयारियों को लेकर मंगलवार को जिलाधिकारी की अध्यक्षता में संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई। बैठक में गंगोत्री नेशनल पार्क के उप निदेशक आरएन पाण्डेय ने बताया कि गंगोत्री-गोमुख मार्ग पर पिछले दिनों अधिक बारिश होने व ग्लेशियर पिघलने के कारण जल स्तर बढने के कारण तीन पुलिया बह गई थी और दो व्यक्तियों के बह जाने की घटना भी हुई है। जिसके दृष्टिगत इस मार्ग पर आवागमन रोका गया है। उन्होंने बताया कि इन तीन पुलियाओं के नवनिर्माण हेतु पार्क प्रशासन के द्वारा सामग्री एवं मजदूर तैयार रखे गए हैं लेकिन इन नालों में जल स्तर अभी भी काफी अधिक बढा होने के कारण पुलिया निर्माण में कठिनाई हो रही है।

जिलाधिकारी ने कहा कि कांवड़ यात्रा को देखते हुए जल स्तर घटते ही गोमुख मार्ग की इन तीनों पुलियाओं का तेजी से निर्माण किया जाना जरूरी है। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में जरूरी संसाधन व सामग्री को क्षेत्र में पहले से उपलब्ध रखा जाय। लोक निर्माण विभाग या किसी अन्य विशेषज्ञ विभाग की सलाह लेकर इन तीनों पुलियाओं के शीघ्र व सुरक्षित निर्माण किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि गोमुख मार्ग के इस क्षतिग्रस्त हिस्से में आवागमन के जोखिम व सुरक्षा चुनौतियों को देखते हुए पुलिया का निर्माण होने तक गंगोत्री स गोमुख की तरफ लोगों को जाने पर लगी रोक को जारी रखा जाना चाहिए। इसके लिये गोमुख मार्ग के प्रवेश द्वारा सहित आस-पास के प्रमुख स्थानों व पड़ावों पर होर्डिंग्स एवं बैनर्स लगाने के साथ ही लाउडस्पीकर के जरिए जानकारी की प्रचार-प्रसार किया जाय।

जिलाधिकारी ने कहा कि कांवड़ मार्ग पर मोबाईल मेडीकल टीमों की तैनाती की जाएगी। उन्होंने कांवड़ यात्रा के पड़ावों व भंडारा स्थलों पर स्वच्छता के बेहतर इंतजाम करने एवं पर्याप्त मात्रा में मोबाईल टायलेट्स की स्थापना करने हेतु जिला पंचायत, नगरपालिका बाड़ाहाट व चिन्यालीसौड़ तथा नगर पंचायत गंगोत्री के अधिकारियों निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने उप जिलाधिकारी भटवाड़ी को भंडारा संचालन हेतु अनुमति निर्गत करते वक्त यह सुनिश्चित कहा कि भंडारा स्थलों को साफ-सुथरा व सुव्यवस्थित बनाए रखने के लिए भंडारा संचालकों को भी स्पष्ट हिदायत दे दी जाय और भंडारों से कारण ट्रैफिक बाधित न हो। जिलाधिकारी ने कांवड़ मार्ग पर पेयजल व्यवस्था और बिजली की सुचारू आपूर्ति को लेकर भी संबंधित विभागों के जरूरी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कांवड़ यात्रा को लेकर विभागों की तैयारियों की दो-तीन दिन बाद पुनः समीक्षा की जाएगी।

बैठक में पुलिस अधीक्षक अर्पण यदुवंशी ने कांवड़ यात्रा हेतु पुलिस विभाग की तैयारियों की जानकारी देते हुए बताया कि कांवड़ भंडारा संचालकों की बैठकें आयोजित कर उन्हें कांवड़ यात्रा व्यवस्था से संबंधित जरूरी हिदायतें दी जाएंगी। पुलिस अधीक्षक ने कहा कि लगभग 15 दिनों तक चलने वाले कांवड़ यात्रा के लिए कांवड़ियों की आवाजाही अगले सप्ताह के अंत से शुरू हो जाएगी। जिसे देखते हुए सुरक्षा एवं ट्रैफिक व्यवस्था से संबंधित योजना तैयार कर ली गई है। कांवड़ वाहनों के नियंत्रित और शांतिपूर्वक संचालन सुनिश्चित करने हेतु भी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित किए जा रहे हैं और इस बारे में पुलिस के द्वारा कांवड़ियों को जागरूक करने का भी प्रयास किया जाएगा।

बैठक में उप जिलाधिकारी भटवाड़ी बृजेश कुमार तिवारी, उप जिलाधिकारी डुंडा एवं अपर मुख्याधिकारी जिला पंचायत नवाजिश खलीक सहित विभिन्न विभागों एवं नगर निकायो के अधिकारियों ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रतिभाग किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.