शीशम बाड़ा कूड़ा निस्तारण केंद्र को लेकर पर्यावरण अधिकारी पर भड़के आन्दोलनकारी

/center>

देहरादून

अगस्त 2019 में कूड़ा निस्तारण केंद्र की एनओसी खत्म होने के बाद भी अभी तक कूड़ा निस्तारण केंद्र पर कूड़ा डाले जाने को लेकर भारी संख्या में पहुंचे शीशम बाड़ा के ग्रामीणों ने विनोद चौहान के नेतृत्व में पर्यावरण अधिकारी को ज्ञापन दिया और जल्द समस्या का समाधान ना होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दे दी।
चौहान कहते हैं कि पिछले तीन साल में कूड़ा निस्तारण केंद्र के कारण जल प्रदूषण से क्षेत्र में लगातार महामारी अपने पैर फैला रही है, यह सर्वविदित है कि पेयजल यहाँ पर मात्र 5-6 फुट में ही निकल जाता है जिसके प्रदूषित जल की वजह से अभी तक 20 कैंसर के मरीज और 6000 डेंगू के मरीज पाए गए केंसर के 20 में से 16 मरीज अभी तक दम तोड़ चुके हैं।प्रदूषण अधिकारी सी एस रावत को आक्रोशित ग्रामीणों ने कहा किै बार-बार ज्ञापन देने और शासन प्रशासन को सूचना देने के बावजूद भी कूड़ा निस्तारण केंद्र वहां से नहीं हट पा रहा है जिससे ग्रामीणों का जीना दूभर हो गया है।यदि अबभी इसको यह से शिफ्ट करने की कार्यवाही नही की जाती है तो ग्रामीण उग्र आंदोलन करने को तैयार है जल्दी ही इसके लिए रणनीति बनायी जाएगी।इस अवसर पर आंदोलन का नेत्रत्व कर रहे विनोद चोषण के साथ पार्षद उर्मिला थापा, चंपा मेधवाल,आशा रावत,सपना,नीलम थापा,रीता शर्मा,पूनम,बीना बमराडा, सुनीता ,प्रमोद शर्मा,नरेन्द्र ,ज्योति बडोनी,मुकेश गुप्ता,राहुल शर्मा,विक्की आदि मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.