Home / Featured / डीएम ऑफिस पर गल्जवाड़ी के ग्रामीणों ने राजस्व अभिलेखों में आबादी में दर्ज कर शासनादेश घोषित किये जाने को भारी प्रदर्शन कर रोष प्रकट किया
डीएम ऑफिस पर गल्जवाड़ी के ग्रामीणों ने राजस्व अभिलेखों में आबादी में दर्ज कर शासनादेश घोषित किये जाने को भारी प्रदर्शन कर रोष प्रकट किया

डीएम ऑफिस पर गल्जवाड़ी के ग्रामीणों ने राजस्व अभिलेखों में आबादी में दर्ज कर शासनादेश घोषित किये जाने को भारी प्रदर्शन कर रोष प्रकट किया

देहरादून

ग्राम गल्जवाड़ी में वर्षों से रह रहे ग्रामवासियों की आवासीय भूमि को राजस्व अभिलेखों में आबादी में दर्ज करने के लिए शासनादेश घोषित किये जाने के सम्बन्ध में डीएम कार्यालय पर ग्रामीणों ने भारी प्रदर्शन कर रोष प्रकट किया ग्राम गल्जवाड़ी में वर्षों से रह रहे ग्रामवासियों की जमीन आबादी घोषित किये जाने के सम्बन्ध में पिछले 16 वर्षों से संघर्ष कर रहे है। ग्राम के लगभग 450 परिवार भूमि के मालिकाना हक की लड़ाई लड़ रहे है जिसके सम्बन्ध में ग्रामवासियों ने कई मर्तबा जिलाधिकारी देहरादून व मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड के समक्ष उपस्थित होकर अपनी समस्या से अवगत करा चुके हैैं किन्तु प्रत्येक बार ग्रामवासियों को भूमि को आबादी में घोषित कराने का ही आश्वासन मिलता रहा है। ग्रामवासी वर्षों से रह रहे आवास को आबादी कराने के सम्बन्ध में उच्च न्यायालय नैनीताल में भी जा चुके है।

उच्च न्यायालय ने राज्य सरकार को ग्रामवासियों की भूमि को आबादी घोषित करने के लिए उचित कार्यवाही करने के लिए कहा किन्तु काफी समय व्यतीत होने के बावजूद भी राज्य सरकार द्वारा ग्रामवासियों की भूमि को अभी तक आबादी भूमि घोषित नहीं की गई है। पूर्व में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा भी घोषणा सं0 1982/2015 में ग्राम गल्जवाड़ी में काबिज व्यक्तियों जिसमें ग्रामवासियों के आवास बने है, को आबादी भूमि में घोषित करने की घोषणा की गई किन्तु राज्य सरकार द्वारा किसी भी प्रकार का कोई शासनादेश आज तक जारी नहीं हो पाया है जिससे ग्रामवासी वर्षों से इस आस में बैठे है कि सरकार द्वारा शासनादेश पारित कर ग्रामवासियों की भूमि को आबादी में घोषित कर ग्रामवासियों को स्वामित्व प्रदान किया जायेगा किन्तु आज भी स्थिति 15 वर्ष पुरानी जैसी ही है। ग्रामवासियों की 2-3 पीढ़ियां गांव में रहते हुए बीत गई है और ग्रामवसी अपनी जमीन जिसमें आबादी बनी है उसको आबादी क्षेत्र घोषित कराने को प्रयत्नशील है। पूर्व में भी सर्वे नायब तहसीलदार देहरादून ने अपनी आख्या जिलाधिकारी देहरादून को प्रदान की थी जिसमें ग्रामवासियों के नाम भूमि खसरा नम्बर क्षेत्रफल सहित मय नक्शा अंकित किया था जिसमें सर्वे नायब तहसीलदार देहरादून द्वारा मौके पर कब्जे का भौतिक सत्यापन भी किया गया जिसकी आख्या जिलाधिकारी देहरादून को प्रदान की गई।

ग्रामवासियों की ग्राम गल्जवाड़ी में बने आवासों को राजस्व अभिलेखों में आबादी भूमि जल्द-से-जल्द दर्ज करने के शासनादेश पारित कराने पहुंचे लोगो मे गर्ल्स बॉडी की प्रधान गल्जवाड़ी लीला शर्मा के साथ उपप्रधान राखि गुरुंग, वार्ड सदस्य विमला देवी, कविता देवी ,दीपा अधिकारी,रेखा, रेणु राणा,कपीला थापा,क्षेत्र पंचायत सदस्य ज्योति ढकाल, पार्षद विद्या देवी,गौरी देवी गुप्ता, पूर्णिमा गुरूंग, रितु गुरूंग,संगीता शर्मा,वीनू,विनीता थापा,दुर्गा देवी,दीपक छेत्री, प्रियंका देवी, बेल कुमारी, हेमा भल्ला, भंवर सिंह,रूपा गुरुंग,प्रेमा देवी आदि सैकड़ों ग्रामवासी मौजूद थे।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top