Home / Uncategorized / काजल की दुर्लभ प्रजाति की लकड़ी के साथ 4 गिरफ्तार,जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लाखों रुपये है
काजल की दुर्लभ प्रजाति की लकड़ी के साथ 4 गिरफ्तार,जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लाखों रुपये है

काजल की दुर्लभ प्रजाति की लकड़ी के साथ 4 गिरफ्तार,जिसकी अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लाखों रुपये है

देहरादून

रात्रि चेकिंग के दौरान प्रतिबंधित काजल की लाखो रुपये कीमत की अवैध लकड़ी के साथ चार अभियुक्त स्कॉर्पियो कार समेत गिरफ्तार

मंगलवार की रात्रि थाना डालनवाला थाना क्षेत्र में ग्रेट वैल्यू पिकेट पर पुलिस द्वारा बैरियर लगाकर वाहनों की चेकिंग की जा रही थी, की रात्रि करीब डेढ़  बजे एक सफेद रंग की स्कॉर्पियो कार संख्या यूपी 16 एएफ 8123 राजपुर की तरफ से आती दिखाई दी, जिसे बैरियर पर रोक कर चेक किया गया तो गाड़ी से 4 बोरियों व दो बैग लकड़ी के गुटके से भरे मिले. पूछताछ में गाड़ी में सवार चार व्यक्तियों, जिनमें दो नेपाली मूल के थे, जिसमे रखी लकड़ी दुर्लभ प्रजाति काजल की होनी बताई।

मौके पर लकड़ी तस्दीक करने हेतु वन विभाग से डिप्टी रेंजर  केके भट्ट तथा बीट अधिकारी राजबीर सिंह चौहान मालसी रेंज को मोके पर बुलाया गया, जिनहोने लकड़ी काजल की होना बताया तथा लकड़ी दुर्लभ प्रजाति व काफी महंगी होना बताया। इस लकड़ी के बारे में जानकारी करने पर पता चला कि इस लकड़ी से बाउल बनाए जाते हैं, जिसकी बौद्ध धर्म में काफी मान्यता होने के कारण चाइना व अंतरराष्ट्रीय मार्केट में काफी डिमांड है। बरामद 88 गुतके लकड़ी की कीमत करीब 70000/- रुपए तक बताई गई है व इससे तैयार किए गए बाउल की कीमत अंतरराष्ट्रीय मार्केट में लाखों रुपए की बताई जा रही है।

1. नरेश कुमार पुत्र राजकुमार निवासी ग्राम निरपालपुर डोंग वाला थाना चिलकाना, जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश
2. शाहनवाज पुत्र रियासत निवासी जयरामपुर थाना सरसावा जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश
3. अमृत पुत्र रामसिंह निवासी लोहानी सराय थाना कुतुब शेर जनपद सहारनपुर उत्तर प्रदेश मूलनिवासी नेपाल
4. करण पुत्र बीरमन निवासी लोहानी सराय थाना कुतुब शेर जनपद सहारनपुर उत्तर प्रदेश।

अभियुक्तों के विरुद्ध थाना डालनवाला में भारतीय वन अधिनियम में अभियोग पंजीकृत कर अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top