20 प्रतिशत खाली पडी वन भूमि में वन से जुडी गतिविधियां चलाने की योजना बना उसे रोजगार से जोड़े…प्रीतम सिंह।

/center>

देहरादूंन

उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने आज हरेला पर्व के शुभारम्भ के अवसर पर समस्त प्रदेशवासियों को पर्व की बधाई व शुभकामनाएं देते हुए कहा कि उत्तराखण्ड की लोक परम्परा का यह अद्भुत पर्व पूरे विष्व के पर्यावरण में उत्तराखण्ड के वनों, उद्यानों, राष्ट्रीय अभ्यारण्य, राष्ट्रीय पार्कों का अलग महत्व व योगदान है। उन्होंने प्रदेश के समस्त कांग्रेसजनों, जिला व महानगर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्षों, ब्लाक व नगर अध्यक्षों, विधायकगणों, पूर्व विधायकगणों व सांसद, विधानसभा प्रत्याशीगणों से अगले एक पखवाडे तक प्रदेशभर में अपने-अपने क्षेत्रों में वृक्षारोपण करने की अपील की।
आज कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेतागणों की बैठक में सभी को हरेला की बधाई देते हुए सिंह ने कहा कि उत्तराखण्ड देश का एक विशिष्ठ राज्य है जिसमें कुल भूमि का 67 प्रतिशत भूभाग वन भूमि है और हमारे पास 47 प्रतिषत वन विद्यमान हैं व 20 प्रतिषत भूमि वन भूमि है किन्तु उसमें वन नहीं हैं। उन्होंने राज्य सरकार को सुझाव दिया कि 20 प्रतिषत खाली पडी वन भूमि में वन से जुडी गतिविधियां चलाने की योजना बनाकर उसे रोजगार से जोड़ा जाय। उन्होंने कहा कि हिमालयी क्षेत्र का देष एवं पर्यावरण की रक्षा में विशेष योगदान रहा है तथा उत्तराखण्ड ने देश एवं विष्व के पर्यावरण की रक्षा में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया है। जिस प्रकार लगातार हिमालय के ग्लेषियर एवं हरियाली कम होती जा रही है उसकी रक्षा के लिए वृक्षा रोपण कार्यक्रमों का आयोजन आवष्यक हैं। उन्होंने कहा कि हिमालयी राज्य होने के कारण यहां के जनमानस का वृक्षों के प्रति विशेष श्रद्धा एवं आदर का भाव रहा है, परन्तु हमें केवल वृक्षा रोपण तक ही सीमित नहीं रहना है हमें इन पेड़ों की रक्षा भी सुनिष्चित करनी है। उन्होंने कहा कि उत्तराखण्ड में हरेला पर्व के रूप में वृक्षा रोपण को मनाने की परम्परा सदियों पुरानी रही है इसीलिए विष्व पर्यावरण की रक्षा में देवभूमि उत्तराखण्ड के महत्व को अन्तर्राश्ट्रीय स्तर पर सम्मान दिया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि वृक्षारोपण महान कार्य है, पेड़ विभिन्न तरीके से प्रकृति को संरक्षण देने का काम करते हैं। कांग्रेस पार्टी ने सदेव जनसेवा का काम किया है, राश्ट्रपिता महात्मा गांधी के नेृत्व में खादी आन्दोलन चलाया जो आज भी लाखों लोगों को रोजगार देने का काम कर रहा है। उन्होने प्रदेशभर के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भी अपील की कि हमें पखवाडे भर पूरे प्रदेष में सघन वृक्षारोपण कर एक मिषाल कायम करनी है। आज समय की मांग है कि हम सबको मिलकर पर्यावरण की रक्षा के साथ-साथ हिमालय की रक्षा के लिए भी आगे आना होगा।
इस अवसर पर प्रदेष उपाध्यक्ष सूर्यकान्त धस्माना, प्रदेश महामंत्री विजय सारस्वत, प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र शाह, प्रदेश महामंत्री ताहिर अली, पूर्व मंत्री अजय सिंह, निवर्तमान प्रवक्ता गरिमा दसौनी, लखपत बुटोला, महानगर अध्यक्ष लालचन्द षर्मा, राजेष चमोली, सुनित राठौर, महेन्द्र सिह, संदीप चमोली, भूपेन्द्र नेगी, अजय रावत, शोभा राम, सेवादल के राजेश रस्तोगी, हेमा पुरोहित, ललित भद्री, सावित्री थापा, निहाल सिंह, आदर्श सूद, पुष्कर सारस्वत आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.