Breaking News
Home / Featured / कोरोना महामारी और पेट्रोल, डीजल,रसोई गैस की बढती कीमतों की दोहरी मार से जनता त्रस्त… प्रीतम सिंह
कोरोना महामारी और पेट्रोल, डीजल,रसोई गैस की बढती कीमतों की दोहरी मार से जनता त्रस्त… प्रीतम सिंह

कोरोना महामारी और पेट्रोल, डीजल,रसोई गैस की बढती कीमतों की दोहरी मार से जनता त्रस्त… प्रीतम सिंह

देहरादून
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कोरोना महामारी की त्रासदी के मध्य पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के रोज-रोज बढ़ते दामों पर चिन्ता प्रकट करते हुए इसे केन्द्र सरकार की संवेदनहीनता बताया है। प्रीतम सिंह ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि जिस प्रकार पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस के दाम रोज बढ़ रहे हैं उससे आम आदमी का जीना दूभर हो चुका है। प्रीतम सिंह ने कहा कि एक तरफ जहां वैष्विक महामारी कोरोना से दैनिक मजदूरी करने वाले लोगों व छोटे व्यवसायियों के रोजगार बन्द होने से उनकी आर्थिक स्थिति खराब हो चुकी है तथा उनके सामने रोजी रोटी का संकट खडा हो गया है। निजी संस्थानों में काम करने वाले करोड़ों लोगों को अपने रोजगार से हाथ धोने पडे़ हैं ऐसी स्थिति में केन्द्र सरकार द्वारा लगातार बढ़ाये जा रहे पेट्रोलियम पदार्थों के दामों ने सरकार की संवेदनहीनता का परिचय दिया है।
प्रीतम सिंह ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण लोगों के रोजगार ठप्प हो चुके हैं तथा पहले से मंहगाई की मार झेल रहा आम आदमी अब पेट्रोलियम पदार्थों (डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस) के दामों में लगातार हो रही वृद्धि से जरूरत की चीजों के दामों में कई गुना वृद्धि के कारण पीड़ित है। उन्होंने कहा कि पेट्रोलियम पदार्थों के दामों में वृद्धि के कारण खाद्य्य पदार्थों सहित सभी चीजों के दामों में स्वाभाविक रूप से वृद्धि होनी निष्चित है। विषेशकर खाद्य्य पदार्थों की बढ़ती कीमतों के कारण आम आदमी को दो वक्त की रोटी के लिए संघर्श करना पड़ रहा है तथा मंहगाई का बोझ आम आदमी के जीने की राह और कठिन बना रहा है।
प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पहले से मंहगाई से त्राहि-त्राहि कर रही जनता पेट्रोलियम पदार्थों (पेट्रोल, डीजल व रसोई गैस) की कीमतों में लगातार की जा रही वृद्धि से त्रस्त हो चुकी है तथा अब मंहगाई बर्दास्त करने की स्थिति में नहीं है। उन्होंने कहा कि अन्तर्राश्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट होने के बावजूद पेट्रोल, डीजल की दरों में लगातार बढ़ोतरी की जा रही है। यूपीए षासन में जहां अन्तर्राश्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम 150 डाॅलर प्रति बैरल होनेे के बावजूद देष में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम काफी कम थे परन्तु वर्तमान में अन्तर्राश्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बहुत कम होने के बावजूद देष में पेट्रोल-डीजल डीजल व रसोई गैस के दामों मे लगातार वृद्धि की जा रही है।

About admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Scroll To Top